संसद में हुई राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय बिल-2018 पर चर्चा

0

नई दिल्ली। लोकसभा के मानसून सत्र में बुधवार को राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय बिल-2018 पर चर्चा हुई। इस बिल को लाने का मकसद खेल विज्ञान, खेल तकनीक, खेल प्रबंधन तथा कोचिंग का प्रचार प्रसार करना है।

इस बिल को खेल एवं युवा मामले के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) राज्यवर्धन सिंह राठौर ने पेश किया जो पूर्व सरकार द्वारा लाए गए अध्यादेश का स्थान लेगा। प्रस्तावित विश्वद्यिालय राष्ट्रीय ट्रेनिंग सेंटर के तौर पर भी काम करेगा।

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2014-15 के बजट सत्र के दौरान बजट पेश करते हुए दिए गए भाषण में इस बिल का प्रस्ताव रखा था। मणिपुर सरकार ने कुतरुक में 325.90 एकड़ जमीन इस विश्वद्यिालय के लिए आवंटित कर दी है।

loading...
शेयर करें