IPL
IPL

योग से दूर भागती है बीमारियां और शरीर को मिलती है नई उर्जा

लखनऊ: हम सबको पता है कि योग करने के कई फायदे है. नियमित योग करने से जहां स्वास्थ्य सही रहता है वहीँ मन_मस्तिष्क का जबरदस्त विकास होता है. योग करने व्यक्ति काफी तरोताजा भी महसूस करने लगता है. इसके साथ ही शरीर में होने वाली तमाम तरह की बिमारियों से भी छुटकारा मिल जाता है. आज हम आपको ऐसे ही कुछ योग के बारे में बतायेंगे जिनको नियमित करने से आपको कुछ शारीरिक विकारों से छुट्टी मिल जाएगी.

चक्रासन योग 

इस आसन को करते समय हथेलियों को नीचे स्पर्श करते समय जल्दबाजी न करें. चक्रासन करने के कई लाभ होते हैं. इस आसन के अभ्यास से पेट की गड़बड़ियां दूर होती हैं. साथ ही कमर पतली और लचकदार बनती है. इस आसन से बांहों की मांसपेशियां मजबूत बनती हैं. टांगें, घुटने चुस्त होते हैं. जांघें और पिण्डलियां भी मजबूत बनती हैं. इसके अलावा इसे करने से बांहों का ऊपरी भाग भी सशक्त होता है. पेट की चर्बी कम होती है.

यह भी पढ़ें: क्या Akhilesh Yadav के रामपुर दौरे से कम हो जायेंगी आजम खान और उनके बेटे की परेशानियां ?

कपाल भाति 

कपाल भाति बहुत ऊर्जावान उच्च उदर श्वास व्यायाम है. कपाल अर्थात मस्तिष्क और भाति यानी स्वच्छता अर्थात ‘कपाल भाति ‘ वह प्राणायाम है जिससे मस्तिष्क स्वच्छ होता है और इस स्थिति में मस्तिष्क की कार्यप्रणाली सुचारु रूप से संचालित होती है. वैसे इस प्राणायाम के अन्य लाभ भी हैं. लीवर किडनी और गैस की समस्या के लिए बहुत लाभ कारी है. कपाल भाति प्राणायाम करने के लिए रीढ़ को सीधा रखते हुए किसी भी ध्यानात्मक आसन, सुखासन या फिर कुर्सी पर बैठें. इसके बाद तेजी से नाक के दोनों छिद्रों से सांस को यथासंभव बाहर फेंकें. साथ ही पेट को भी यथासंभव अंदर की ओर संकुचित करें. प्रेग्नेंट महिलायें इस योगासन को करने से बचें.

यह भी पढ़ें: इस दिन से होगी ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ की शुुरुआत, देश के सैकड़ों स्थानों पर होगा आयोजन

Related Articles

Back to top button