जानें क्यों निषाद पार्टी के समर्थकों ने भाजपा को वोट ना देने की कसम खाई ?

अमित शाह की रैली में दिखी नाराजगी

अमित शाह ने आज लखनऊ में निषाद पार्टी द्वारा आयोजित रैली में हिस्सा लिया. इस दौरान अमित शाह ने सपा-बसपा पर जमकर निशाना साधा, वहीं संजय निषाद की अगुआई में भारी संख्या में प्रदेशभर से निषाद समाज के लोग रैली में एकत्रित हुए थे, उन्हें उम्मीद थी कि अमित शाह निषादों के आरक्षण को लेकर आज औपचारिक घोषणा करेंगे. गृहमंत्री से इस बात कोई ठोस ऐलान न सुनकर उनके सब्र का बांध टूट गया और समर्थक भाजपा को वोट न देने की बात कहते दिखे.

प्रदेश भर से आए थे निषाद पार्टी समर्थक

दरअसल, निषाद समाज की रैली को लेकर प्रदेश भर के तमाम सुदूर जनपदों से भी बड़ी संख्या में पार्टी समर्थक व पदाधिकारी लखनऊ आए हुए थे. मौका इसलिए भी खास था कि रैली में सीएम के अलावा खुद गृह मंत्री अमित शाह शिरकत कर रहे थे. सुबह से ही लोगों में उत्साह देखा जा रहा था, उन्हें उम्मीद थी कि अमित शाह की मौजूदगी में भाजपा उनकी आरक्षण वाली मांग पर मुहर लगा देगी.

भाजपा का विरोध करते दिखे निषाद पार्टी के समर्थक

जैसे-जैसे दिन ढलता गया निषाद समर्थक निराश होते गए, रैली के बाद वीवीआईपी काफिला रवाना होते हुए सभी मुखर होकर भाजपा का विरोध करने की बात कहते दिखे. अहम बात यह भी रही कि दूरदराज के जिलों से आई महिला समर्थकों में भी इस बात को लेकर भाजपा व सरकार के प्रति गहरा आक्रोश दिखा. उन्होंने भी साफ शब्दों में भाजपा से दूरी बनाने व चुनाव में वोट ना देने की बात कही. समर्थकों ने कहा कि आरक्षण नहीं, तो वोट नहीं

 

Related Articles