ये लो.. सिपाही लड़ते ही रह गए, हिस्ट्रीशीटर हुआ फरार

up-police_350_072012071402कानपुर। दो थानों के बीच गुडवर्क की लड़ाई दो सिपाहियों में हो गई। सिपाही लड़ते रहे और पकड़ा गया हिस्ट्रीशीटर मौका देख रफूचक्कर हो गया। यह मामला शहर के किदवई नगर थाना क्षेत्र के जूही डिपो में हुआ। मौके पर पहुंचे सीओ के बीच में पड़ने पर भी जब सिपाही नहीं माने तो उन्हें हवालात में डाल दिया गया। हालांकि बाद में मामला रफादफा कर दिया गया।

ये भी पढ़ें : यूपी पुलिस में सिपाहियों की भर्ती शुरू, जल्द करें आवेदन

क्या था मामला

गोविंदनगर थाने में तैनात रहा एएसपी का खास सिपाही लम्बे समय से गैर हाजिर है। वहीँ पूर्व में किदवई नगर थाने में तैनात रहे सिपाही की क्राइम ब्रांच में तैनाती है। गैर हाजिर चल रहे सिपाही ने काकादेव थाना क्षेत्र के हिस्ट्रीशीटर सुशील बच्चा को जूही डिपो बुलाया था। वह किदवई नगर पुलिस को गुडवर्क कराना चाहता था।

गुडवर्क से थानेदारों को लाभ पहुंचाना चाहते थे

हिस्ट्रीशीटर को पकड़ कर गुडवर्क की तैयारी की भनक काकादेव पुलिस को भी लग गई। वहां पहुंचे क्राइम ब्रांच के सिपाही ने हिस्ट्रीशीटर से धक्का मुक्की कर दी। जिससे दोनों सिपाही भिड़ गए। उनमें मारपीट हो गई। जब इसकी जानकारी किदवई नगर पुलिस को लगी तो वह दोनों सिपाहियों को थाने ले आई। जहाँ एक थाने के एसओ और सीओ पैरवी के लिए पहुँच गए। सिपाही वहां भी भिड़ गए तो उन्हें हवालात में डाल दिया गया। हालांकि बाद में मामला महकमे से जुड़ा होने के चलते रफादफा कर दिया गया।

ये भी पढ़ें : यूपी में संभलकर करें आंदोलन, पुलिस भी कर सकती है आगजनी !

अब सब जानकारी से कर रहे इनकार

गुडवर्क को लेकर अपने पसंदीदा थानेदार को लाभ पहुंचाने का खेल सिपाहियों की लड़ाई की भेंट चढ़ गया। मौका देख हिस्ट्रीशीटर भी चम्पत हो गया। इस मामले में सीओ बाबूपुरवा घटना की जानकारी से ही इनकार कर दिया है। जबकि सूत्रों के अनुसार घटना के बाद थानेदारों को जमकर फटकार अधिकारियों द्वारा लगाई गई है। विभाग की छवि खराब होने को लेकर इन पर गाज भी गिर सकती है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button