केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का विवादित बयान, कृषि बिल का विरोध करने वालों को कहा ‘दोगला’

पटना: बीजेपी के बड़बोले नेता व केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। शनिवार को बीजेपी की तरफ से बेगूसराय में कृषि बिल के समर्थन में किसान सम्मलेन का आयोजन किया गया था। जिसमें अक्सर अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले बीजीपी के बड़बोले नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी हिस्सा लिया था।

किसान सम्मलेन को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जो किसान बिल का विरोध कर रहे है, वह जनता से नकारे गए दोगले लोग है।

‘किसानों के हित में कृषि बिल’

गिरिराज सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि मोदी सरकार द्वारा लाया गया कृषि बिल किसानों के हित में है। बेगूसराय के एमआरजेडी कॉलेज के सभागार में हुए सम्मलेन में उन्होंने कहा कि देश के किसान पीएम मोदी को खत लिखकर कृषि कानून को बनाये रखने की अपील किये है। ऐसे में वो लोग जिनको जनता ने नकार दिया है, जो किसान है ही नहीं वह कृषि बिल का विरोध कर रहे है।

उन्होंने कहा कि विपक्ष किसानों के कंधे पर बंदूक रख कर चला रहा है। यह लोग मोदी का विरोध करते – करते अब देश का विरोध करने लगे है।

कृषि बिल नहीं होगा वापस

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस और कॉम्युनिस्ट के लोग जो पहले सीएए, एनआरसी का विरोध कर रहे थे, वहीँ अब कृषि बिल का विरोध कर रहे है, यह सभी दोगले लोग है, जो खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगवा रहे है। कृषि बिल का विरोध करने वाले लोगों को दोगला कहने को लेकर उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि यह तो संवैधानिक शब्द है,जो दो तरह से बात करता है, वह दोगला है।

इसके आलावा उन्होंने कहा कि कृषि बिल किसी भी हाल में वापस नहीं होगा,सुधारों के लिए दरवाजे खुले है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार का लक्ष्य है कि 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का जो हर हाल में हो होकर रहेगा।

यह भी पढ़ें: नो गूगल पे, नो फोन पे, डायरेक्ट पॉकेट पे महिला पुलिसकर्मी ने ली रिश्वत

Related Articles