5 स्टार होटल में रातें रंगीन कर रहे नॉट रिचेबल नेताजी !

GREECEगोरखपुर। जिला पंचायत चुनाव सात जनवरी को है लेकिन गोरखपुर के लगभग चालीस जिला पंचायत सदस्य 25 दिसम्बर के बाद से ही नॉट रिचेबल हैं। उनके मोबाइल या तो बंद हैं या नॉट रिचेबल। ऐसे नेताओं को लेकर सिर्फ हवाई कयासबाजी का दौर चल रहा है। एक जिला पंचायत सदस्य के समर्थक ने तो यहां तक दावा किया कि पांचसितारा होटल में रातें रंगीन हो रही हैं।

सूत्रों का दावा है कि इस साल गोरखपुर का जिला पंचायत चुनाव बीस करोड़ का होगा। जो पैसे बंटने थे, वे बंट चुके हैं। पैसे बांटने वाले नेताओं ने जिला पंचायत सदस्यों को नये साल के पैकेज के नाम पर अलग-अलग राज्यों में घूमने के लिये भेज दिया है। दिलचस्प यह है कि घूमने निकले नेताओं का लोकल सोशल कनेक्ट कट गया है। विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि आध्यात्मिक प्रवृत्ति के नेताओं को उज्जैन घूमने भेजा गया। वहीं, सदस्यों की एक बड़ी फौज ऐसी है जिन्हें मौज- मस्ती के लिये चर्चित शहरों के सैर सपाटे पर भेजा गया है।

मंत्री की प्रतिष्ठा दाव पर

गोरखपुर जिला पंचायत चुनाव में कैबिनेट मंत्री राजकिशोर सिंह की प्रतिष्ठा दाव पर है। सत्ता हर हाल में कुर्सी चाहती है। ऐसे में अन्य प्रत्याशी अपने वोटर को छिपा कर रख रहे हैं, ताकि सत्ता के दबाव में उनके वोटर दगा न कर सकें।

छह को गोरखपुर वापसी

जिन जिला पंचायत सदस्यों को भूमिगत किया गया है, वे छह जनवरी तक गोरखपुर लौट आएंगे, लेकिन रात में उन्हें घर नहीं जाने दिया जाएगा। सात जनवरी को वोट डालने के बाद ही वे घर जा सकेंगे।

कुछ भूमिगत ने नहीं लिये लाभ

जिला पंचायत के सभी सदस्य लाभ के लिये नहीं भूमिगत हैं। ये नेता अपने इलाके में विकास कार्य चाहते हैं। सिर्फ सुरक्षा कारणों से इन्हें नॉट रिचेबल होना पड़ा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button