‘हमें तो लोहिया गांव दे दीजिये सरकार’

results-of-panchayati-raj-elections-rajasthanगोरखपुर। जिला पंचायत चुनाव में जहां पैसे बांटे जाने, ऐशो आराम कराने और भूमिगत सदस्यों को मुंहमांगे दाम दिये जाने की सूचनाएं आम हो रही हैं, वहीं आधा दर्जन सपा जिला पंचायत सदस्य ऐसे हैं जिन्होंने वोट के बदले विकास मांगा है। घोषित रूप से तो ऐसी कोई मांग नहीं की गई है और सदस्य पार्टी के प्रति निष्ठा दिखा रहे हैं लेकिन अंदर ही अंदर सहमति बन चुकी है। तय हुआ है कि ये आधा दर्जन जिला पंचायत सदस्य सपा के पक्ष में खुलकर वोट करेंगे और बदले में उनकी पसंद के गांव को लोहिया गांव घोषित कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें: कुर्सी के लिये मंत्री जी अपने इलाके से DM लाये हैं !’

 

विश्वस्त सूत्रों का दावा है कि जिला पंचायत सदस्यों के वोट का रेट 3 लाख रुपये से लेकर 15 लाख रुपये तक लगा है। तीन प्रत्याशी मैदान में हैं जिनमें दो के बीच कांटे का मुकाबला है। ऐसे में सदस्यों की कीमत काफी बढ़ गई है और दोनों पक्ष मुंहमांगी कीमत पर वोट लेना चाहेंगे। दिसम्बर महीने से ही गायब 41 सदस्यों को एक पक्ष ने पर्यटन पर भेज दिया। आज शहर में उनकी उपस्थिति हो जाएगी लेकिन वे भूमिगत ही रहेंगे।

ऐसे हालात में भी कुछ जिला पंचायत सदस्य ऐसे हैं जो पैसे और पर्यटन के सख्त खिलाफ हैं। उन्होंने सत्ता से विकास की मांग की है। इन सदस्यों और सत्ता के बीच अघोषित समझौता हुआ है कि अगर वे सपा प्रत्याशी को वोट देंगे तो उन्हें लोहिया गांव दिया जाएगा। यह भी आश्वासन मिला है कि ऐसे सदस्यों को लोहिया गांव में विकास के ठेके भी मिलेंगे। यानी कमाएंगे वे भी लेकिन बिकेंगे नहीं। साथ ही विकास के एजेंडे पर कायम रहते हुए अगली जिला पंचायत की कुर्सी के लिए अपनी दावेदारी भी पक्की कर लेंगे।

तीन ने की कैम्पेनियन वोट की दावेदारी

तीन जिला पंचायत सदस्यों ने वोट के दिन अपनी जगह अपने परिवार के किसी सदस्य को वोट डालने का अधिकार देने की मांग की है। इस प्रक्रिया को कैम्पेनियन वोट कहा जाता है। वार्ड संख्या 48 की सदस्य इंद्रमति देवी, वार्ड संख्या 72 की सदस्य बुधिया देवी और वार्ड संख्या 67 की सदस्य रिंकू देवी ने अपनी जगह किसी और को वोट देने की अनुमति मांगी है। हांलाकि जिला प्रशासन ने दावा किया है कि इन महिलाओं के प्रार्थना पत्र पर अनुमति समुचित कारणों से संतुष्ट होने के बाद ही दी जाएगी।

एक घंटे के अंदर अध्यक्ष का नाम तय हो जाएगा

जिला पंचायत अध्यक्ष पद का चुनाव सात जनवरी को सुबह 11 बजे से अपराह्न तीन बजे तक चलेगा। इसके बाद वोटों की गिनती शुरू हो जाएगी। महज एक घंटे के भीतर मतगणना का परिणाम घोषित हो जाएगा और जिला पंचायत अध्यक्ष का नाम तय हो जाएगा। चुनाव को देखते हुए आज शाम तक जिले की सीमाओं पर सख्ती बढ़ा दी जाएगी।

सपा के बागी अजय के साथ

सपा से निष्कासित कुंवर प्रताप सिंह और कालीशंकर यादव ने जी-जान लगाकर बसपा समर्थित प्रत्याशी अजय बहादुर यादव के लिए प्रचार करना शुरू कर दिया है। ये नेता अजय बहादुर के पक्ष में माहौल बना रहे हैं साथ ही साथ सत्ता का दुरूपयोग के खिलाफ भी इनकी मुहिम है। हांलाकि सत्ताधारी दलों के नेताओं का कहना है कि सत्ता के दुरूपयोग की मनगढ़ंत कहानियां सुनाई जा रही हैं। पूरी चुनाव प्रक्रिया निष्पक्ष है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button