Divya Khosla Kumar का सोनू निगम पर पलटवार- दिल्ली की राम लीला में 5 रुपये में गाते थे गाना!

नई दिल्ली:सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद फ़िल्म इंडस्ट्री में छिड़ी इनसाइडर-आउटसाइडर की बहस को सिंगर सोनू निगम ने संगीत इंडस्ट्री की तरफ़ मोड़ दिया। उन्होंने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो पोस्ट करके टी-सीरीज़ और इसके एमडी-चेयरमैन भूषण कुमार पर कई गंभीर इल्ज़ाम लगाये। अब इन आरापों को भूषण की पत्नी दिव्या खोसला कुमार ने सिलसिलेवार ढंग से जवाब दिया है।

दिव्या ने इंस्टाग्राम पर लगभग 12 मिनट के वीडियो में सोनू के इस आरोप को खारिज़ किया कि टी-सीरीज़ नये लोगों को मौक़ा नहीं देती। दिव्या ने सोनू निगम को सचेत करके हुए कहा कि टी-सीरीज़ के ख़िलाफ़ उनके कैंपेन के बाद उन्हें दुष्कर्म की धमकियां मिल रही हैं। वो अब चुप नहीं बैठेंगी।

टी-सरीज़ नये लोगों को मौक़ा नहीं देती

कुछ दिनों से सोनू निगम जी टी-सीरीज़ और भूषण कुमार जी के ख़िलाफ़ कैंपेन चला रहे हैं। इस सिलसिले में यह बोलना चाहती हूं कि टी-सीरीज़ ने आज तक हज़ारों कलाकारों को ब्रेक दिया है, जो आउटलाइडर्स हैं, जो इंडस्ट्री से नहीं जुड़े हैं। उनमें म्यूज़िक डायरेक्टर्स हैं, सिंगर्स हैं, लिरिसिस्ट और एक्टर्स हैं। डायरेक्टर्स भी हैं। मैंने ख़ुद अपनी फ़िल्म यारियां से 10 न्यूकमर्स को चांस दिया था। उनमें से चार लोग नेहा कक्कड़, हिमांश कोहली, रकुल प्रीत सिंह और कम्पोज़र आर्को आज बड़े नाम बन चुके हैं।

दिव्या सोनू निगम से सवाल करती हैं कि आप तो बहुत बड़े लीजेंड हैं, बहुत बड़े कलाकार हैं। आपने आज तक कितने लोगों को चांस दिया। आप तो आज तक टी-सीरीज़ में किसी को लेकर नहीं आये कि इसको चांस दे दीजिए। सोशल मीडिया में कैमरे के पीछे छिपकर कहना बड़ा आसान है, मगर आपने ग्राउंड लेवल पर कितने टैलेंट को आगे बढ़ाया। आपने ख़ुद को छोड़कर इंडस्ट्री में किसी टैलेंट को चांस नहीं दिया। आप हम पर दोष लगा रहे हैं कि हमने किसी को काम नहीं दिया, जबकि टी-सीरीज़ में काम करने वाले 97 फीसदी लोग आउटसाइडर्स हैं।

बाला साहेब ठाकरे, स्मिता ठाकरे और सहाराश्री से मिलवाने की गुज़ारिश

इस आरोप पर दिव्या कहती हैं- सोनू निगम जी ख़ुद 5 रुपये में दिल्ली की राम लीला में गाना गाते थे। गुलशन कुमार जी ने उन्हें वहां से स्पॉट किया था। उन्होंने इनका टैलेंट पहचाना। इनको फ्लाइट्स की टिकट देकर बॉम्बे बुलाया। इनसे कहा, बेटा मैं तुझे बहुत बड़ा कलाकार बनाऊंगा। आप बताइए सोनू निगम जी, आप से यह बात कही गयी या नहीं कही गयी। आपके इतने बड़े मुकाम पर पहुंचाया।

दिव्या आगे कहती हैं कि गुलशन कुमार जी की हत्या के बाद सोनू निगम 18 साल के भूषण की मदद करने के बजाए ख़ुद दूसरी कंपनी के पास चले गये। भूषण उस समय छोटे थे तो इनके पास जाकर मदद मांगते थे, जिसका एहसान यह आज जता रहे हैं। दीवाना एल्बम के लिए मदद मांगी, इन्होंने मदद की भी और उसी का एहसान जता रहे हैं।

Related Articles