डीजेबी ने फिर शुरू की अवैध जल कनेक्शन को नियमित करने की योजना

नई दिल्ली। दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) ने सोमवार को राष्ट्रीय राजधीनी में अनाधिकृत जल कनेक्शनों को नियमित करने की एक योजना को तीन महीने के लिए फिर से शुरू करने की मंजूरी दी। यह निर्णय डीजेबी चेयरमैन व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की बैठक में लिया गया। इस योजना को मूल रूप से मार्च 2016 में शुरू किया गया था।

दिल्ली जल बोर्डडीजेबी के एक बयान में कहा, “दिल्ली में खास तौर से अनाधिकृत कॉलोनियों में बड़ी संख्या में अनाधिकृत जल कनेक्शन हैं। इससे बोर्ड को राजस्व की हानि होती है क्योंकि इस तरह के कनेक्शन भी पानी लेते हैं। यह स्थिति पानी की गुणवत्ता पर भी गंभीर विपरीत प्रभाव डाल रही है। डीजेबी इस मुद्दे पर लगातार प्रयास कर रहा है।”

बोर्ड ने वर्षा जल सरंक्षण नहीं करने के लिए द्वारका में उपभोक्ताओं पर जुर्माना लगाने की समय सीमा को दो महीने के लिए, एक सितंबर तक विस्तार दिया।

डीजेबी ने मटियाला विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में कुतुब विहार फेज-एक व दो, गोयल विहार व पंकज गार्डेन की अनाधिकृत कॉलोनियों में मेन पाइपलाइन बिछाने की अपनी सहमति दे दी। इससे एक लाख निवासियों को फायदा होगा।

बोर्ड ने यमुना विहार अपशिष्ट जल उपचार संयंत्र में एक इंटरसेप्टर सीवर को भी मंजूरी दी। इस परियोजना की लागत, रखरखाव के साथ 90 करोड़ रुपये है।

Related Articles