लेटलतीफी का आलम न पूछो! 45 मिनट की देरी से वाराणसी पहुंची ‘वंदेभारत एक्सप्रेस’

0

नई दिल्लीः ट्रेनों की लेटलतीफी ने सरकार को एक बार फिर आईना दिखा दिया है। शनिवार को देश की पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन वंदेभारत एक्सप्रेस (ट्रेन-18) का फाइनल ट्रायल हुआ। ट्रेन सुबह 6 बजे नई दिल्ली से चलकर पौने नौ घंटे बाद दोपहर 2.45 बजे वाराणसी कैंट स्टेशन पहुंची। जबकि ट्रेन को 2 बजे वाराणसी पहुंचाना था लेकिन ट्रेन 45 मिनट की देरी से पहुंची। ट्रायल के दौरान इसकी अधिकतम रफ्तार 130 किमी प्रति घंटे रही।

आरडीएसओ की टीम द्वारा ट्रायल रिपोर्ट आरडीएसओ मुख्यालय को सौंपी जाएगी। वहां संरक्षा विभाग के उच्च अफसर इसका आकलन करेंगे। वहीं दो दिन में इसका रूट फाइनल होगा।

आपको बता दें कि ट्रायल के बाबत ट्रेन के सभी 16 कोच में सेंसरयुक्त मशीन के जरिए पटरियों की कंपन का आंकलन किया गया। आरडीएसओ की चार सदस्यीय टीम ने सेंसरयुक्त मशीन से मिलने वाले संकेत व डाटा को कंप्यूटर में फीड किया। प्रयागराज से इस ट्रेन को लेकर पायलट सलीम अहमद और आरके सिंह आये। कैंट स्टेशन पर उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक टीपी सिंह और लखनऊ मंडल के डीआरएम सतीश कुमार, एडीआरएम रवि प्रकाश चतुर्वेदी उपस्थित रहे।

loading...
शेयर करें