इस वक्त न करें पार्टनर के शरीर से छेड़छाड़, कष्ट मिलेगा अपार

नई दिल्ली। आजकल के आधुनिक दौर में शारीरिक संबंधों के प्रति लोगों की रुचि बढ़ती जा रही है। समय-वक्त या फिर उम्र और मर्यादा की परवाह न करते हुए लोग अपनी इच्छानुसार कभी भी यह काम करने को आतुर रहते हैं। शास्त्रों के अनुसार स्त्री-पुरुष के बीच संबंध स्थापित करने के लिए एक निश्चित समय का पालन करना आवश्यक बताया गया है। ऐसा न करने पर व्यक्ति पाप का भागी बनता है, साथ ही उसका जीवन मुश्किलों से घिर जाता है। शास्त्रों में विवाह पूर्व संबंध बनाने को अनुचित ठहराया गया है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस वक्त पार्टनर के शरीर से छेड़छाड़ करने पर आप कष्ट के भागी बन सकते हैं।

भूलकर भी न बनाएं इस वक्त शारीरिक संबंध
जब आपने या आपके साथी ने व्रत रखा हो तो उस समय सेक्स न करें।

संभोग को सूर्योदय के बाद अच्छा नहीं माना गया है। इसलिए सूर्यास्त के बाद और सूर्योदय से पहले का समय ही इसके लिए उचित माना गया है।

नवरात्र के पवित्र दिनों में संभोग से बचना चाहिए।

किसी भी ग्रहण के समय कभी भी संभोग नहीं करना चाहिए।

ऐसे समय में शारीरिक संबंध स्थापित करने को शास्त्रों में उचित नहीं ठहराया गया है।

Related Articles