भरी जवानी में न पिएं शराब, दिमाग का हो जाएगा ऐसा बुरा हाल

0

नई दिल्ली। तेजी से बदलती दुनिया में युवाओं का नशे के प्रति रुझान कुछ ज्यादा ही बढ़ता जा रहा है। शराब का सेवन करना आजकल लोगों के लिए एक स्टेटस सिंबल बनता जा रहा है। आमतौर पर आपको इसके पीने से होने वाले नुकसानों के बारे में पता होगा। जैसे कि शराब के सेवन से लीवर खराब हो जाता है, साथ ही इसके अन्य भी कई नुकसान होते हैं। आज हम आपको भरी जवानी में शराब पीने के कुछ ऐसे नुकसान बताने जा रहे हैं, जिन्हें जानकर आप इस चीज़ को हाथ लगाने से पहले सोचने पर मजबूर हो जाएंगे।

जानिए क्या कहता है रिसर्च
न्यूयार्क में हुए एक रिसर्च के मुताबकि, किशोरावस्था में अत्यधिक दारु पीने से अल्पकालिक याददाश्त जाने का खतरा रहता है। न्यूयार्क के कोलंबिया विश्वविद्यालय के माइकेल सेलिंग समेत शोधकर्ताओं के मुताबिक, प्रीफ्रंटल कोर्टेक्स (पीएफसी) जो व्यवहार प्रबंधन में अपनी भूमिका निभाता और किशोरावस्था के दौरान परिपक्व होता है, किशोरावस्था में अत्यधिक शराब पीने से उसकी कार्यक्षमता पर असर पड़ता है।

शोधकर्ताओं ने पाया कि किशोरावस्था में अल्कोहल के सेवन से दिमाग के पीएफसी पायरामिडल न्यूरॉन्स के गुणों में बदलाव आ जाता है, जो पीएफसी को दिमाग के अन्य क्षेत्रों से जोड़ता है, वह गुण प्रभावित होता है, इससे व्यवहार का विनिमयन प्रभावित होता है।

शोधकर्ताओं ने कहा कि जो किशोरावस्था में शराब का सेवन करते/करती हैं, उनकी पीएफसी की गतिविधियों में शिथिलता आ जाती है, इससे उन्हें संज्ञानात्मक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है और बाद में यह शराब पीकर हुड़दंग करने, मारपीट करने जैसी गतिविधियों में बदल जाती है।

loading...
शेयर करें