भूलकर भी मंदिर में न करें ये काम, आ जाएगा जिंदगी में तूफान

0

नई दिल्ली। धार्मिक मान्यतानुसार पूजा-पाठ से व्यक्ति की जिंदगी की मुश्किलें आसान हो जाती हैं। लेकिन इस दौरान कुछ सावधानियां बरतनी बेहद जरुरी हैं। सही विधि-विधान के साथ पूजा न करने पर परिणाम उल्टा पड़ सकता है। शिव मंदिर में गलत समय पर ताली बजाने से भगवान शंकर आपसे क्रोधित हो सकते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस समय शिव मंदिर में ताली बजाने पर आपके जीवन में तूफान आ सकता है।

जानिए किस वक्त शिव मंदिर में न बजाए ताली
पुराणों के अनुसार शिव मंदिर में केवल सायंकाल की आरती के समय ही ताली बजाना चाहिए क्योंकि भगवान शंकर पूरा समय ध्यान में रहते है और दिन में ताली बजने से उनके ध्यान में विघ्न उत्पन्न होता है, जिससे उनके गण रुष्ट हो जाते है और परिणामस्वरुप आपको उनके कोप का भाजन करना पड़ सकता है और मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है।

धार्मिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो आरती के दौरान ताली बजाने से व्यक्ति के हाथों से बुरी रेखाएं मिटने लगती हैं और अच्छी रेखाओं का निर्माण होता है। पूजा के दौरान भगवान से प्रार्थना करते हुए मनोकामना पूर्ति के लिए ताली बजाने का खास महत्व दिया जाता है, विशेषकर भगवान शिव की पूजा में शिवलिंग पर जल अर्पण और पूजा समाप्ति के बाद ताली बजायी जाती है।

loading...
शेयर करें