नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में नहीं देखना चाहते एनडीए के ही कुछ लोग: उपेंद्र कुशवाहा

0

पटना: केंद्रीय मंत्री व राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने यहां शुक्रवार को कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में ही कुछ लोग ऐसे हैं, जो नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में नहीं देखना चाहते हैं। उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि नरेंद्र मोदी को 2019 में फिर से प्रधानमंत्री बनाना है।

कुशवाहा ने ‘पैगाम-ए-खीर’ कार्यक्रम चलाने की भी घोषणा की।

पटना में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कुशवाहा ने कहा कि रालोसपा अगले एक महीने तक अति पिछड़ा अधिकार सम्मेलन करेगी। इस कार्यक्रम के जरिए हमलोग पिछड़ों के हक की लड़ाई को आगे बढ़ाएंगे। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी 25 सितंबर से पटना से ‘पैगाम-ए- खीर’ कार्यक्रम भी चलाएगी।

कुशवाहा ने आरक्षण के मुद्दे पर चर्चा करते हुए कहा कि आरक्षण से किसी वर्ग को नुकसान नहीं होता है। उन्होंने कहा कि आजकल जब अधिकार की बात की जाती है तब एक विरोधी खेमा खड़ा हो जाता है, जो गलत है। उन्होंने कहा कि अगर आरक्षण से किसी को नुकसान होता तो दक्षिण के राज्यों में सबसे ज्यादा आरक्षण है और ये राज्य ही सबसे ज्यादा विकसित हैं।

उन्होंने कहा, “आरक्षण को लेकर लोगों में गलत धारणा बनी है। बिहार के लोग विकास चाहते हैं, इसलिए गलतफहमी दूर करने की जरूरत है।”

राजग में किसी प्रकार के सीटों के बंटवारे की सूचना को गलत बताते हुए रालोसपा नेता ने कहा कि सीट बंटवारे को लेकर राजग में कहीं कोई चर्चा नहीं हुई है। उन्होंने एकबार फिर दोहराया कि सीट बंटवारे को लेकर कहीं कोई विवाद भी नहीं है।

मीडिया में ऐसी खबर आ रही है कि आगामी लोकसभा चुनाव के लिए बिहार में राजग में सीट बंटावारा हो चुका है, जिसमें रालोसपा को दो सीट मिलने की बात कही जा रही है।

loading...
शेयर करें