सुबह-सुबह रोज उठकर करें ये 5 काम, तेजी से घटेगा वजन

नई दिल्ली: हर साल 11 अक्टूबर को विश्व मोटापा दिवस मनाया जाता है. इस दिवस को मनाने के पीछे की वजह लोगों को मोटापे के कारण और इससे बचने के उपायों के बारे में जागरूक करना है. ज्यादातर लोग खराब लाइफस्टाइल की वजह से मोटापे से ग्रसित हैं. वजन कम करने की तमाम कोशिशों के बाद भी लोगों का वजन कम ही नहीं होता है. चाहे 5 किलो वजन कम करना हो या फिर 15 किलो, लोगों के लिए ये बहुत चुनौतीपूर्ण होता है. कई बार डाइटिंग और एक्सरसाइज करने के बावजूद भी वजन कम नहीं होता है.हर साल 11 अक्टूबर को विश्व मोटापा दिवस मनाया जाता है. इस दिवस को मनाने के पीछे की वजह लोगों को मोटापे के कारण और इससे बचने के उपायों के बारे में जागरूक करना है. ज्यादातर लोग खराब लाइफस्टाइल की वजह से मोटापे से ग्रसित हैं. वजन कम करने की तमाम कोशिशों के बाद भी लोगों का वजन कम ही नहीं होता है. चाहे 5 किलो वजन कम करना हो या फिर 15 किलो, लोगों के लिए ये बहुत चुनौतीपूर्ण होता है. कई बार डाइटिंग और एक्सरसाइज करने के बावजूद भी वजन कम नहीं होता है.हर साल 11 अक्टूबर को विश्व मोटापा दिवस मनाया जाता है. इस दिवस को मनाने के पीछे की वजह लोगों को मोटापे के कारण और इससे बचने के उपायों के बारे में जागरूक करना है. ज्यादातर लोग खराब लाइफस्टाइल की वजह से मोटापे से ग्रसित हैं. वजन कम करने की तमाम कोशिशों के बाद भी लोगों का वजन कम ही नहीं होता है. चाहे 5 किलो वजन कम करना हो या फिर 15 किलो, लोगों के लिए ये बहुत चुनौतीपूर्ण होता है. कई बार डाइटिंग और एक्सरसाइज करने के बावजूद भी वजन कम नहीं होता है.हर साल 11 अक्टूबर को विश्व मोटापा दिवस मनाया जाता है. इस दिवस को मनाने के पीछे की वजह लोगों को मोटापे के कारण और इससे बचने के उपायों के बारे में जागरूक करना है. ज्यादातर लोग खराब लाइफस्टाइल की वजह से मोटापे से ग्रसित हैं. वजन कम करने की तमाम कोशिशों के बाद भी लोगों का वजन कम ही नहीं होता है. चाहे 5 किलो वजन कम करना हो या फिर 15 किलो, लोगों के लिए ये बहुत चुनौतीपूर्ण होता है. कई बार डाइटिंग और एक्सरसाइज करने के बावजूद भी वजन कम नहीं होता है.हर साल 11 अक्टूबर को विश्व मोटापा दिवस मनाया जाता है. इस दिवस को मनाने के पीछे की वजह लोगों को मोटापे के कारण और इससे बचने के उपायों के बारे में जागरूक करना है. ज्यादातर लोग खराब लाइफस्टाइल की वजह से मोटापे से ग्रसित हैं. वजन कम करने की तमाम कोशिशों के बाद भी लोगों का वजन कम ही नहीं होता है. चाहे 5 किलो वजन कम करना हो या फिर 15 किलो, लोगों के लिए ये बहुत चुनौतीपूर्ण होता है.

कई बार डाइटिंग और एक्सरसाइज करने के बावजूद भी वजन कम नहीं होता है.हर साल 11 अक्टूबर को विश्व मोटापा दिवस मनाया जाता है. इस दिवस को मनाने के पीछे की वजह लोगों को मोटापे के कारण और इससे बचने के उपायों के बारे में जागरूक करना है. ज्यादातर लोग खराब लाइफस्टाइल की वजह से मोटापे से ग्रसित हैं. वजन कम करने की तमाम कोशिशों के बाद भी लोगों का वजन कम ही नहीं होता है. चाहे 5 किलो वजन कम करना हो या फिर 15 किलो, लोगों के लिए ये बहुत चुनौतीपूर्ण होता है. कई बार डाइटिंग और एक्सरसाइज करने के बावजूद भी वजन कम नहीं होता है.हर साल 11 अक्टूबर को विश्व मोटापा दिवस मनाया जाता है.

इस दिवस को मनाने के पीछे की वजह लोगों को मोटापे के कारण और इससे बचने के उपायों के बारे में जागरूक करना है. ज्यादातर लोग खराब लाइफस्टाइल की वजह से मोटापे से ग्रसित हैं. वजन कम करने की तमाम कोशिशों के बाद भी लोगों का वजन कम ही नहीं होता है. चाहे 5 किलो वजन कम करना हो या फिर 15 किलो, लोगों के लिए ये बहुत चुनौतीपूर्ण होता है. कई बार डाइटिंग और एक्सरसाइज करने के बावजूद भी वजन कम नहीं होता है.हर साल 11 अक्टूबर को विश्व मोटापा दिवस मनाया जाता है.

इस दिवस को मनाने के पीछे की वजह लोगों को मोटापे के कारण और इससे बचने के उपायों के बारे में जागरूक करना है. ज्यादातर लोग खराब लाइफस्टाइल की वजह से मोटापे से ग्रसित हैं. वजन कम करने की तमाम कोशिशों के बाद भी लोगों का वजन कम ही नहीं होता है. चाहे 5 किलो वजन कम करना हो या फिर 15 किलो, लोगों के लिए ये बहुत चुनौतीपूर्ण होता है. कई बार डाइटिंग और एक्सरसाइज करने के बावजूद भी वजन कम नहीं होता है.हर साल 11 अक्टूबर को विश्व मोटापा दिवस मनाया जाता है.

इस दिवस को मनाने के पीछे की वजह लोगों को मोटापे के कारण और इससे बचने के उपायों के बारे में जागरूक करना है. ज्यादातर लोग खराब लाइफस्टाइल की वजह से मोटापे से ग्रसित हैं. वजन कम करने की तमाम कोशिशों के बाद भी लोगों का वजन कम ही नहीं होता है. चाहे 5 किलो वजन कम करना हो या फिर 15 किलो, लोगों के लिए ये बहुत चुनौतीपूर्ण होता है. कई बार डाइटिंग और एक्सरसाइज करने के बावजूद भी वजन कम नहीं होता है.

Related Articles