बिना सूचना गायब थे Doctor साहब, DM के पत्र पर उत्तर प्रदेश शासन ने सेवा की समाप्त

गोंडा: कोरोना काल में लापरवाह डॉक्टरों पर शासन की चाबुक तेजी से चल रहा है. कोरोना महामारी के बीच गोंडा जिला अस्पताल में कार्यरत एक और Doctor भी बिना किसी सूचना के गायब थे. जिलाधिकारी के पत्र पर आर्थो सर्जन डा. विवेक स्वर्णकार की उत्तर प्रदेश शासन ने सेवा की समाप्त कर दी है.

बताते दें कि आर्थो सर्जन डा. विवेक स्वर्णकार पिछले 24 अप्रैल से बिना किसी पूर्व सूचना के नदारद चल रहे थे. मामले का संज्ञान लेते हुए गोंडा के जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने शासन को पत्र लिखकर कार्यवाही का अनुरोध किया था जिसके बात डा. विवेक स्वर्णकार की सेवा उत्तर प्रदेश शासन ने समाप्त करने की कार्यवाही की है.

इस मामले में जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने बताया कि जिला अस्पताल में कार्यरत ( Doctor ) डा. विवेक स्वर्णकार द्वारा कोविड-19 महामारी के दौरान पदीय दायित्वों का निर्वहन न कर शासकीय कार्य के प्रति शिथिलता बरतने के साथ ही उच्चाधिकारियों के आदेशों का अनुपालन नहीं किया गया एवं बगैर सूचना के अनुपस्थित रहे. मामले का संज्ञान लेते हुए संविदा पर कार्यरत ( Doctor ) डॉक्टर विवेक स्वर्णकार की सेवा समाप्ति के लिए शासन को जिलाधिकारी द्वारा संदर्भित किया गया था. जिसके क्रम में शासन द्वारा सेवा समाप्त कर दी गई है.

ये भी पढ़ें : गोंडा: ग्राम पंचायतों में नेट कनेक्टिविटी के लिए Optical Fiber केबिलों का बिछेगा जाल

Related Articles