लखनऊ में डॉक्टरों ने बड़ी आंत काटकर बना दिया जननांग, भारत में पहली बार किया गया ऐसा ऑपरेशन

लखनऊ के केजीएमयू में डॉक्टरों ने चमत्कार कर दिखाया है। भारत में ऐसा पहली बार हुआ है जब डॉक्टरों ने महिला की बड़ी आंत को काटकर जननांग बना दिया। डॉक्टरों का दावा है कि दुनिया में इस तरह के अब तक सिर्फ दो ही ऑपरेश हुए हैं। भारत में ये पहला ऑपरेशन है।  दरअसल, डॉक्टरों ने बताया कि जन्म से ही महिला के शरीर में ना तो बच्चादानी थी और ना ही जननांग। महिला को ना सिर्फ बच्चादानी और जननांग की समस्या थी, गुर्दे और रीढ़ समेत उसे कुल नौ बीमारियां थीं।  लेकिन डॉक्टरों की होशियारी से महिला को दोबारा जिदंगी मिल गई।

महिला की इस बीमारी का पता तब चला जब उम्र होने पर भी मासिक धर्म नहीं हुआ। मासिक धर्म ना होने पर घरवालों ने केजीएमयू में दिखाया। यहां डॉ. विश्वजीत सिंह ने चेकअप किया। महिला को एमआरकेएच सिंड्रोम की पुष्टि हुई। डॉ. विश्वजीत ने बताया कि युवती को जन्म से बच्चेदानी और जननांग नहीं था। पांच हजार लोगों में से किसी एक को यह दिक्कत होती है। डॉक्टरों ने ऑपरेशन करने की बात कही।  जब बाकी जांच हुई तो पता चला कि दिल के वॉल्व में खराबी है और एक गुर्दा भी नहीं था। गर्दन की लंबाई सामान्य से काफी कम थी और रीढ़ की हड्डी में भी परेशानी थी। ऐ से में बेहोशी देने में दिक्कत हो सकती थी।

डॉ. विश्वजीत के मुताबिक, यह वजाइनोप्लास्टी टाइप टू का केस था। ऐसे केस में मरीज को कई अन्य बीमारियां भी होती हैं। इस तरह का ऑपरेशन मुश्किल था। हालांकि, आयुष्मान योजना के तहत पंजीकृत कर ऑपरेशन मुफ्त किया गया। यूरॉलजी विभाग के डॉ. विश्वजीत सिंह के निर्देशन में यह ऑपरेशन हुआ। इसमें डॉ. राहुल जनक सिन्हा, रेजिडेंट डॉ. ज्ञानेंद्र, डॉ. मुकेश, सिस्मानु, एनस्थीसिया विभाग के डॉ. जिया और पैरामेडिकल स्टाफ भी इसमें शामिल रहा।

Related Articles