डॉग करेंगे पसीना और मूत्र सूंघकर कोरोना संक्रमण की पहचान, 99% रिजल्ट सटीक

मेरठ में आरवीसी के डॉग ब्रीडिंग और ट्रेनिंग सेंटर ने कोरोना संक्रमण की पहचान के लिए तैयार किए विशेष कुत्ते

मेरठ: कोरोना संक्रमित व्यक्ति को सूंघ कर पहचानेंगे सेना के प्रशिक्षित कुत्ते। उत्तरप्रदेश के मेरठ में आरवीसी के डॉग ब्रीडिंग और ट्रेनिंग सेंटर ने मनुष्यों के शरीर में कोरोना संक्रमण का पता लगाने के लिए ‘विशेष कुत्ते’ तैयार किए है।

पसीना और मूत्र के सैंपल

आरवीसी के डॉग ब्रीडिंग और ट्रेनिंग सेंटर ने मनुष्यों के शरीर में कोरोना संक्रमण की पहचान के लिए विशेष रूप से तीन प्रशिक्षित कुत्ते तैयार किए हैं जो मनुष्य के मूत्र और पसीने को सूँघकर पता लगाएंगे की व्यक्ति संक्रमित है या नहीं।

दिल्ली में ट्रायल के लिए तैनात

प्रशिक्षित कुत्ते मनुष्यों के मूत्र एवं पसीने को सूंघकर चंद मिनट में कोरोना वायरस की पहचान कर लेते है। मेरठ ट्रेंनिग सेंटर से प्रशिक्षण के बाद इन्हें दिल्ली छावनी में ट्रायल के लिए तैनात किया गया है। कुत्ते की ट्रेंनिग के लिए लगभग डेढ़ महीने का समय लगा जिसके बाद सेना की ये पहल कामयाब हुई।

कुत्ते की शुरुआती ट्रेंनिग

ढेड़ महीने की ट्रेनिंग के बाद प्रशिक्षित कुत्ते को अस्पताल में कोरोना संक्रमित मरीजों के पास ले जाया गया संक्रमण का पता लगाने के लिए। कुत्ते सैंपल को सूँघे जिसकी मेडिकल जांच की गयी और रिपोर्ट पॉजिटिव आई जिससे कोरोना संक्रमण की पुष्टि पाई गई। कम से कम इस तरह के 99% जांच में कुत्ते द्वारा संक्रमण की पहचान बिल्कुल सटीक निकली।

रसायन को सूंघ कर संक्रमण की पहचान

कोरोना संक्रमित व्यक्ति से एक अलग तरह का रसायन निकलता है, जिसकी गंध को प्रशिक्षित कुत्ते पहचान लेते है। प्रशिक्षित कुत्ते को इसी रसायन की गंध को सूंघने के लिए ट्रेंनिग दिया गया है। मनुष्यों में कोरोना वायरस की गंध मिलते ही कुत्ते वहीं पर बैठकर भौकने लगते है। जिससे कोरोना संक्रमित की पहचान की जाती है।

सैनिकों में कोरोना संक्रमण की पहचान

मेरठ में तीनों कुत्ते के सफल प्रशिक्षण के बाद इन्हें दिल्ली छावनी में तैनात किया गया है। जहाँ पर सैनिकों में कोरोना संक्रमण की जांच की जा रही है। प्रशिक्षित (श्वान) कुत्ते का नाम लेब्राडोर, कॉकर स्पेनियल और दक्षिण भारतीय प्रजाति चिपपिपराई है।

यह भी पढ़े:आज रविवार 29 नवंबर 2020 का देखे राशिफल, इन राशियों पर धन लाभ की संभावना

यह भी पढ़े:औरंगाबाद में 40 लाख रुपये मूल्य का 77.2 ग्राम ब्राउन शुगर बरामद, चार गिरफ्तार

Related Articles