डोनाल्ड ट्रंप की बढ़ी मुश्किलें, इस मामले में बने पहले अमेरिकी राष्ट्रपति

नई दिल्लीँ: वाशिंगटन में कैपिटल हिल में हुई हिंसा के मामले में अमेरिका की प्रतिनिधि सभा ने डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ लाए गए दूसरे ऐतिहासिक महाभियोग के प्रस्ताव को पास कर दिया है। इस महाभियोग प्रस्ताव के पास होने के बाद डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के लोकतंत्र के इतिहास में एक ही कार्यकाल में दो बार महाभियोग का सामने करने वाले पहले राष्ट्रपति बन गए हैं। बता दें कि ट्रंप के खिलाफ प्रतिनिधि सभा में 197 के मुकाबले 232 वोटों से प्रस्ताव पास हो गया।

रिपब्लिकन ने भी किया समर्थन

अमेरिका के प्रतिनिधि सभा में डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ पास महाभियोग में उनके साथियों ने भी समर्थन किया। रिपब्लिकन पार्टी के 10 सांसदों ने भी महाभियोग के समर्थन में मतदान किया।

वहीं निचले सदन में महाभियोग के प्रस्ताव पास होने से ट्रंप की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। अगर ट्रंप के खिलाफ सीनेट में भी यह प्रस्ताव पास हो जाता है तो वह कभी भी व्हाइट हाउस में राष्ट्रपति के तौर पर पदभार नहीं संभाल सकेंगे और साल 2024 में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों में भी भाग नहीं ले पाएंगे।

दिसंबर में पास हुआ था महाभियोग प्रस्ताव

इससे पहले डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ साल 2020 में महाभियोग पारित किया गया था। राष्ट्रपति चुनावों में जीत हासिल करने वाले जो बाइडेन के बेटे के खिलाफ यूक्रेन पर दबाव बनाने को लेकर यह प्रस्ताव पास किया गया था। हालांकि यह प्रस्ताव रिपब्लिकन पार्टी के पास बहुमत होने की वजह से सीनेट में नहीं पास हो सका था।

Related Articles

Back to top button