डोनाल्ड ट्रंप की बड़ी जीत, विरोध के बाद भी एमी बैरेट बनीं सुप्रीम कोर्ट की नई जज

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से पहले जज एमी कोनी बैरेट ने अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट की न्यायाधीश के रूप में शपथ ले ली। न्यायाधीश बैरेट ने राष्ट्रपति ट्रम्प की मौजूदगी में व्हाइट हाउस में शपथ ली है।

नई दिल्ली: अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से पहले जज एमी कोनी बैरेट ने अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट की न्यायाधीश के रूप में शपथ ले ली है। न्यायाधीश बैरेट ने राष्ट्रपति ट्रम्प की मौजूदगी में व्हाइट हाउस में शपथ ली है। जज एमी कोनी बैरेट के शपथ को लेकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बड़ी जीत मानी जा रहा है।

डोनाल्ड ट्रंप की बड़ी जीत

राष्ट्रपति चुनाव से पहले डोनाल्ड ट्रंप को बड़ी सफलता मिली है। एमी कोनी बैरेट ने सुप्रीम कोर्ट की जज के रूप में शपथ ले ली है। ट्रंप ने जज के लिए बैरेट के नाम का ऐलान किया था। जिसको लेकर काफी बवाल मचा हुआ था। विपक्ष के साथ ही अपनी पार्टी में भी ट्रंप को विरोध का सामना करना पड़ा था। लेकिन बावजूद इसके ट्रंप बैरेट को सुप्रीम कोर्ट का न्यायाधीश नियुक्त करवाने में सफल रहे।

व्हाइट हाउस में ली शपथ

न्यायाधीश एमी कोनी बैरेट ने व्हाइट हाउस के एक समारोह में शपथ ली। जज बैरेट के शपथ लेने के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि मुझे पता है कि आप हम सभी को बहुत गौरवान्वित महसूस कराएंगी। इससे पहले  अमेरिकी सीनेट ने बैरेट की नियुक्ति संबंधी प्रस्ताव को पारित किया।

विरोध के बाद भी प्रस्ताव पास

एमी कोनी बैरेट को न्यायाधीश पद पर नियुक्त करने के लिए विपक्ष ने काफी विरोध किया। लेकिन विपक्ष का विरोध काम नहीं आया। रिपब्लिकन पार्टी के नियंत्रण वाले सीनेट में प्रस्ताव के पक्ष में 52 और विरोध में 48 वोट पड़े। विरोध में वोट करने वालों में एक नाम रिपब्लिकन पार्टी के लीडर सुसान कोलिन्स का भी था। जो एमी कोनी बैरेट को जज बनाने का विरोध कर रहे थे। लेकिन ट्रंप अपने फैसले पर कायम रहे और एमी कोनी बैरेट को ही सुप्रीम कोर्ट की नई जज नियुक्त कर दिया।

ये भी पढ़ें: भारत-अमेरिका के विदेश और रक्षा मंत्री करेंगे ‘टू प्लस टू प्लस संवाद’

Related Articles