दहेज में रखी दस लाख फेसबुक लाइक्स की मांग

get_imgयमन में एक पिता ने अपनी बेटी की शादी में मेहर की रकम के तौर पर दस लाख फेसबुक लाइक्स की मांग रख दी। पहले तो स्वयंवर की इस अनूठी शर्त के लिए लड़का ही मिलना मुश्किल हो गया। फिर एक लड़का तैयार हुआ तो इस लक्ष्य को पाना भी आसान न था। 2012 से शुरू हुए इस मिशन में वह 2015 तक जब केवल एक लाख 41 हजार लाइक्स ही जुटा पाया तो दुल्हन के पिता का दिल पसीज गया। उन्होंने इस शर्त में एक नयी शर्त जोड़ते हुए निकाह की इजाजत दे दी कि वह उस लक्ष्य के लिए प्रयास जारी रखेगा।

लड़की के पिता सलेम अयाश एक शायर हैं। यमन के ताइज़ शहर के रहने वाले सलेम ने होने वाले दूल्हे से मेहर की रकम के बदले ये शर्त रखी थी। एक अनुमान के अनुसार यमन में महज़ ढ़ाई करोड़ इंटरनेट उपभोक्ता ही हैं और ऐसी स्थिति में 10 लाख फ़ेसबुक लाइक्स का इंतजाम करना बड़ी बात थी।

यमन के अल-अय्याम अखबार के पत्रकार बशराहील कहते हैं, “यह पहली बार है कि हमने ऐसी कोई बात सुनी है। ये खबर सोशल मीडिया पर छाई हुई है। इंटरनेट पर कई ब्लॉगर्स लोगों से सलेम अयाश की पेज़ लाइक करने के लिए अपील कर रहे हैं ताकि इस जोड़े की शादी हो जाए।”

सलेम अयाश की फ़ेसबुक पेज के बनने के कुछ ही दिनों के भीतर 30 हज़ार से ज्यादा लाइक्स मिल गए। सलेम अयाश से जब ये पूछा गया कि वे सोने या पैसे की बजाय डिजिटल दहेज क्यों मांग रहे हैं, इस पर उनका जवाब था, “यमन में मेहर की रकम का इंतजाम करने की हैसियत किसी की नहीं रही।”

मेहर की रकम

पत्रकार बशराहील कहते हैं, “ये एक हकीकत है कि कई नौजवान मेहर की रकम चुका पाने की स्थिति में नहीं हैं और इस वजह से उनकी शादी नहीं हो पा रही है। यमन में ये बहस का एक बड़ा मुद्दा है। मेहर की रकम ज्यादा से ज्यादा क्या हो, बीते सालों में इसे कानूनी जामा पहनाए जाने की कई कोशिशें हुई हैं।”

“पड़ोसी अक्सर मेहर की रकम का इंतजाम करने में मदद कर देते हैं। दुल्हन के पिता ही मेहर की रकम तय करते हैं। यमन में हाल में सामूहिक शादियों का चलन बढ़ा है ताकि इसमें आने वाले खर्चों को लोगों की जेब की पहुँच के भीतर लाया जा सके।”

सलेम अयाश की फ़ेसबुक पेज पर जो लोग कमेंट कर रहे हैं, वे इस बात को लेकर बँटे हुए दिखाई देते हैं कि ये विचार अच्छा है या बुरा। कई लोगों ने उन्हें इस मुद्दे को उठाने के लिए शुक्रिया अता किया है लेकिन कुछ लोगों ने उनके इरादों पर सवाल भी उठाए हैं। एक व्यक्ति ने लिखा है, “आप केवल मशहूर होने के लिए अपनी बेटी का इस्तेमाल कर रहे हैं।”

सलेम ने फ़ेसबुक लाइक्स अपने पेज के लिए माँगे हैं न कि अपनी बेटी के फ़ेसबुक पेज के लिए। सलेम अयाश ने बीबीसी को बताया कि वे अपने होने वाले दामाद को दस लाख फ़ेसबुक लाइक्स जुटाने की कोशिश करते हुए देखना चाहते हैं लेकिन इस पर अड़ेंगे नहीं।

वे कहते हैं, “अगर मैंने पाया कि उसने कड़ी मेहनत की है तो उनकी शादीशुदा जिंदगी को खुश देखने के लिए मैं अपने रुख में लचीलापन लाने को राजी हूँ।”

जैसा उन्होंने कहा था कर दिखाया। एक लाख 41 हजार लाइक्स के बाद उन्होंने अलकदामी को अपनी बेटी के संग निकाह की अनुमति दे दी। हालांकि उन्होंने अपनी बेटी के नाम का खुलासा नहीं किया।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button