वाराणसी में पेयजल आपूर्ति ठप, बिजली कटौती होने पर नागरिकों ने किया हंगामा

वाराणसी: दशाश्वमेध क्षेत्र में दो दिन से पेयजल की आपूर्ति ठप होने से पानी का संकट खड़ा हो गया है। आपूर्ति नहीं होने पर गुस्साए लोगों ने चितरंजन पार्क में पंप पर हंगामा किया। आपरेटर के पास जलकल के अधिकारियों का नंबर भी नहीं था। दशाश्वमेध वार्ड के मान मंदिर, त्रिपुरा भैरवी, रानी भवानी गली और मीरघाट में पेयजल पाइप क्षतिग्रस्त होने से पानी की सप्लाई बंद है। इसको लेकर सपा पार्षद व पदाधिकारियों ने बुधवार को जलकल सचिव से मिलकर तत्काल निदान की मांग की है। वहीं बुधवार को सचिव ने स्थिति में सुधार के लिए हरसंभव प्रयास का आश्वासन दिया था मगर गुरुवार को भी समस्‍या जस की तस बनी रही।

सपा पार्षद कमल पटेल ने बताया कि 28 दिसंबर से ही क्षेत्र में पेयजल की आपूर्ति बाधित है। पूर्व पार्षद वरुण सिंह व युवजन सभा के पूर्व प्रदेश सचिव सत्यप्रकाश सोनकर सोनू ने कहा कि जलकल के ढुलमुल रवैये से जनता परेशान है। शिक्षक सभा पूर्व जिलाध्यक्ष संजय प्रियदर्शी और पूर्व पार्षद उमेश यादव ने बताया करोड़ों रुपये खर्च होने के बाद भी लोगों को पानी नहीं नसीब हो रहा है।

लाइन शिफ्टिंग के लिए 11 केवी फीडर सामनेघाट व विद्यापीठ को नौ जनवरी को बंद रखा जाएगा। इसके कारण सामने घाट क्षेत्र में सुबह 11 से शाम तीन और काशी विद्यापीठ क्षेत्र में दोपहर 12 से शाम चार बजे तक आपूर्ति बाधित रहेगी। वहीं गुरुवार सुबह भी कुछ देर तक बिजली कटौती होने से पानी का संकट लोगों को झेलना पड़ा।

सुंदरपुर के प्रज्ञा नगर, नरियां के इमाम चौक, सरायसुर्जन के दशमी, नगवां के रविदास घाट के पास विगत एक हफ्ते से पानी की सप्लाई बाधित है। नागरिकाें के हंगामे के बाद अवर अभियंता गोविंद कुमार और अधिशासी अभियंता पंप हाउस पहुंचे और क्षतिग्रस्त पाइप लाइन को ठीक कराने के निर्देश दिए।

Related Articles