ऑटो चालक करने लगा युवती से छेड़खानी , बचने के लिए युवती चलते ऑटो से कूदी

0

लखनऊ: लखनऊ में सिविल अस्पताल से शुक्रवार दोपहर दवा लेकर लौट रही युवती से ऑटो चालक ने छेड़छाड़ की और विरोध करने पर गलत दिशा में गाड़ी मोड़ दी। सहमी युवती चीख-पुकार मचाते हुए चलते ऑटो से कूद गई। उसका सिर फट गया। राहगीरों ने ऑटो चालक को दौड़ाकर पकड़ लिया और जमकर धुनाई की। उग्र भीड़ ने आरोपी को गोमती में फेंकने और ऑटो में आगजनी का प्रयास किया।  पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद आरोपी को भीड़ के चंगुल से छुड़ाया। लोगों ने पुलिस कर्मियों से धक्का-मुक्की भी की। पुलिस ने आरोपी चालक के अलावा उपद्रव करने वाले दो अन्य युवकों को भी गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक ऑटो चालक नशे में था ।

इंस्पेक्टर राम सूरत सोनकर ने बताया कि इंदिरानगर में रहने वाली युवती दोपहर करीब डेढ़ बजे सिविल अस्पताल से दवा लेकर घर के लिए लौट रही थी। जियामऊ के पास वह ऑटो में सवार हुई जिसका चालक गोंडा के कटरा बाजार निवासी कृष्ण कुमार (22) था। पीड़िता के मुताबिक रास्ते में चालक ने उससे छेड़खानी करते हुए अश्लील टिप्पणी की।  युवती ने इसका विरोध करते हुए ऑटो रोकने को कहा तो चालक ने रफ्तार बढ़ा दी।

ऑटो से कूदने से लहूलुहान हुई युवती 

आरोपी ने वूमन पॉवर लाइन चौराहे से ऑटो को गोमतीनगर की तरफ मोड़ दिया। यह देख युवती ने मदद के लिए शोर मचाना शुरू किया। उसकी चीख-पुकार सुनकर राहगीरों की नजर पड़ी तो आरोपी ने सीओ गोमतीनगर कार्यालय के सामने से ऑटो को रिवर फ्रंट की तरफ मोड़ दिया। आरोपी की इस हरकत से युवती बुरी तरह सहम गई और रिवर फ्रंट के पास लोहिया पथ पर चलते ऑटो से कूद गई। सड़क पर गिरकर वह गंभीर रूप से घायल हो गई। युवती को खून से लथपथ देख राहगीरों ने ऑटो का पीछा करके चालक को दबोच लिया।

आरोपी पर लात-घूंसों की बारिश 

उग्र लोगों ने चालक को घेरकर उस पर लात-घूंसों की बारिश कर दी। सरेराह हंगामा होते देख अन्य राहगीर भी रुकने लगे। इससे समतामूलक चौराहे से वूमन पॉवर लाइन चौराहे तक भीषण जाम लग गया। इस बीच राहगीरों ने पुलिस व युवती के परिवारीजनों को फोन करके घटना की सूचना दी। जब तक पुलिस पहुंचती लोगों ने ऑटो चालक को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। इस दौरान कुछ लोगों ने ऑटो चालक को बचाने की कोशिश की तो राहगीरों ने उनका विरोध शुरू कर दिया। इससे हंगामा बढ़ने लगा और भीड़ अराजक हो गई।

दो युवकों ने दौड़ाकर आरोपी चालक को धर दबोचा

गोमती पुल पर घटना के दौरान कुछ लोगों ने आरोपी चालक को गोमती नदी में फेंकने का प्रयास किया। पुलिस ने मुश्किल से उसे बचाया। इस पर लोगों ने ऑटो में तोड़फोड़ शुरू कर दी और उसे पलटते हुए आगजनी का प्रयास करने लगे। इस पर अतिरिक्त प्रभारी निरीक्षक गौतमपल्ली राजेश कुमार सिंह व जियामऊ चौकी प्रभारी विनोद कुमार यादव समेत अन्य पुलिस कर्मियों ने सख्ती करके भीड़ को खदेड़ा। इंस्पेक्टर ने बाताया कि नेहरू इन्क्लेव निवासी रोमेश राणा इंदिरानगर की जलसेतु विभाग कालोनी में रहने वाले अभिषेक यादव ने युवती की चीख सुनकर आरोपी चालक को दौड़ाकर पकड़ा था। उन दोनों को थाने ले जाया गया जहां उन्होंने पूरा घटनाक्रम पुलिस को बताया। पुलिस ने बताया कि रोमेश और अभिषेक दोस्त हैं और घटना के दौरान हजरतगंज से लौट रहे थे।

सड़क पर जाम लगाकर नारेबाजी 

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक सूचना देने के काफी देर बाद तक पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। इससे हालात खराब होने लगे और लोगों ने गोमती पुल पर जाम लगाकर नारेबाजी शुरू कर दी। इसी बीच गौतमपल्ली थाने की पुलिस व पीआरवी टीम पहुंच गई। पुलिस ने आरोपी चालक को अपनी कस्टडी में लेने का प्रयास किया तो लोग उग्र हो गए। नतीजा यह हुआ कि पुलिस और लोगों में हाथापाई होने लगी। पुलिस को आरोपी को भीड़ के शिकंजे से बाहर निकालना मुश्किल हो गया। पुलिस ने काफी खींचतान के बाद आरोपी को बाहर निकाला और अस्पताल ले गये। देर शाम मेडिकल के बाद पुलिस आरोपी ऑटो चालक को गोमतीनगर थाने लाई जहां उसे हवालात में डाल दिया गया।

loading...
शेयर करें