सिस्टम की लापरवाही के चलते युवती ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

गोण्डा: सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ जहां महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कई दावे कर रहे हैं। तो वहीं दूसरी तरफ इन दावों पर उनके ही हुक्मरान पलीता लगाने में जुटे हुए हैं। प्रदेश में बच्चियों और महिलाओं पर हो रहे अत्याचार रुकने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। बच्चियां और महिलाएं असहज महसूस कर रही हैं। आलम यह है कि वो इस नर्क में जीना नहीं चाह रही हैं और मौत को गले लगा रही हैं। ताजा मामला गोंडा से सामने आया है जहां सिस्टम की लापरवाही के चलते एक युवती ने छेड़छाड़ से तंग आकर मौत को गले लगा लिया। और अब इस पूरे मामले पर पुलिस लीपापोती करने में जुटी हुई है। लेकिन सवाल है कि आखिर कब तक ऐसे ही बेटियां प्रदेश में असहज महसूस करेंगी। क्या उनका इस दुनिया में जीने का अधिकार नहीं है। क्या बेटियां इस देश का हिस्सा नहीं हैं।

युवती ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

गोंडा के कौड़िया थाना क्षेत्र की निवासी एक युवती से गांव के ही कुछ शोहदे छेड़छाड़ कर रहे थे। युवती ने जब इसकी जानकारी अपने परिजनों को दी तो युवती के परिजनों ने थाने में इस बात की शिकायत की। शिकायत के बाद पुलिस ने मामले को संज्ञान में लेकर शोहदों को थाने ले गई। लेकिन हुआ वही जो हर सिस्टम में चल रहा है। फिर क्या पुलिस ने मामले को रफा दफा कर शोहदों को छोड़ दिया।

शोहदें छूटने के बाद एक बार फिर युवती से छेड़खानी की। और परिजनों को धमकाया। जिसके बाद एक बार युवती के परिजन अपनी गुंहार लगाने थाने पहुंचे। लेकिन पुलिस ने सिर्फ धारा 151 में चालान कर दिया गया। जिससे आहत होकर युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

वहीं जब इस बात की जानकारी कानून के रखवालों को मिली तो वह  कानून की जानकारी न होने का हवाला देकर गांव वालों को समझाने में जुट गए। और पूरे मामले को रफादफा करने के प्रयास में लगे हुए हैं।

लापरवाह कानून के रखवाले

बताया जा रहा है कि मृतका के पिता की कई साल पहले मौत हो गई थी। जिसके बाद वह और उसकी मां अकेले घर में रहती थी। मृतक की मां ने बताया शोहदों से तंग आकर उसने पुलिस को सूचना दी थी पर पुलिस कार्रवाई के नाम पर हीलाहवाली कर थी। जिससे शोहदों का मन बढ़ता गया और सुबह शौच से वापस आते समय युवती से फिर छेड़छाड़  की जिससे तंग आकर युवती ने आत्महत्या कर ली।

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश: दुकान पर सो रहे व्यक्ति की सिर कूचकर बेरहमी से हत्या

Related Articles

Back to top button