9 दिनों की चैत्र Navratri व्रत में खाएं ये चीजें, नहीं होगा Dehydration का Problem

इस बार चैत्र Navratri 13 अप्रैल से शुरू होने वाली हैं। नवरात्र व्रत में श्रद्धालु पूरे दिन भूखे तो रहते हैं लेकिन सुबह व शाम के समय अधिक आहार ले लेते हैं। ऐसे में स्वास्थ्य बिगड़ सकता है।

लखनऊ: इस बार चैत्र Navratri 13 अप्रैल से शुरू होने वाली हैं। नवरात्र व्रत में श्रद्धालु पूरे दिन भूखे तो रहते हैं लेकिन सुबह व शाम के समय अधिक आहार ले लेते हैं। ऐसे में स्वास्थ्य बिगड़ सकता है। साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने की जगह कम हो सकती है। उपवास पूरे नौ दिन का हो या प्रथम या अंतिम दिन का। कोरोना वायरस के इस बुरे वक्‍त में एक दिन की खान पान की लापवाही मुश्किल कर सकती है।

इसलिए हर दिन के अनुसार अपने आहार को पहले ही तय कर लें। ऐसे में इस दौरान लोग 9 दिन तक व्रत रखते हैं तो कुछ ऐसा आहार लेते रहें जो आपको बॉडी की एमोन्यूटि को सहीं रखें। आपको इस दौरान अपने खानपान का खास ख्याल रखना चाहिए। आपको इस दौरान कुछ ऐसे फल और सब्जियों का सेवन करना चाहिए जो आपके शरीर में पानी की कमी को पूरा कर सके। व्रत के दौरान शरीर में पानी की कमी काफी ज्यादा हो जाती है।

चैत्र Navratri में Dehydration से ऐसे बचें

जिससे आपको डिहाइड्रेशन की समस्या से गुजरना पड़ता है। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आपको किन फल और सब्जियों का सेवन करना चाहिए। कच्चा केला फाइबर से भरपूर होता है। साथ ही यह वजन कम करने में भी मदद करता है। नवरात्रि में आप कच्चे केले के कोफ्ते या टिक्की बनाकर खा सकते हैं। शकरकंद खाने से डिहाइड्रेशन की समस्या ठीक हो जाती है। इसमें पोटैशियम, सोडियम और कैल्शियम जैसे तत्व मौजूद होते हैं जो शरीर के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। इसे इम्यूनिटी बूस्टर के नाम से भी जाना जाता है।

यह भी पढ़ें

व्रत के दौरान सिंघाड़े का सेवन करना काफी फायदेमंद माना जाता है। सिंघाड़े में विटामिन बी और सी, आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम और प्रोटीन जैसे कई तत्व मौजूद होते हैं। यह शरीर में पानी की कमी को पूरा करता है. साथ ही यह बॉडी को एनर्जी भी देता है। लौकी में पानी की मात्रा काफी अधिक होती है. लौकी से कब्ज और गैस की समस्या भी नहीं होती है। आप नवरात्रि में लौकी का हलवा या मिठाई बनाकर भी खा सकते हैं।

Related Articles

Back to top button