देशी शहर में विदेशी मंदिरों की गूंज, भक्तों की कतारों से टूटे रिकार्ड

0

उत्तर प्रदेश। यूपी में ऐसे अनेक शहर है जो मंदिरों के लिए जाने जाते हैं। वहीं कुछ ऐसे भी शहर है जो भारती संस्कृ ति के मंदिर और विदेशी मंदिरों के लिए भी जाने जा रहे है। जिनमें वाराणसी और हरिद्वार के अलावा कुशीनगर मुख्य हैं। इनमें सबसे ऊपर है कुशीनगर जहां पर थाईलैंड, चाइना, वियतनाम, जापान, कोरिया, श्रीलंका, कम्बोडिया, तिब्बत, वर्मा आदि देशों के मंदिर बने हैं। जो अपने देश की  स्‍थापित  कला का बेहतरीन नमूना है। बौद्ध धर्म के अनुवाईयों के द्वारा कुशीनगर में और मंदिरों और मठों की स्थापना की जा रही है।

कुशीनगर में भगवान बुद्ध ने निर्वाण को प्राप्त किया था। इसलिए बौद्धों के लिए यह बहुत बड़ा स्थारन हैं। विदेशों से आने वाले बौद्ध उपासक बुद्ध के जन्म, ज्ञान प्राप्ति और प्रथम उपदेश स्थल का भ्रमण करने के बाद बुद्ध के परिनिर्वाण स्थल कुशीनगर आते हैं। यहां आने के बाद ही उनकी यात्रा पूरी मानी जाती है। विभिन्न देशों के मंदिर होने से कुशीनगर आने वाले विदेशी श्रद्धालु की संख्यार भी बहुत अधिक होती है। जो हर दिन यहां की भव्यरता को दर्शाती है।

 यह भी पढ़े- दिलदारी में दिल्‍ली पीछे, यूपी में जिंदगी हो रही रोशन

loading...
शेयर करें