ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में अवंता ग्रुप के प्रमोटर को किया गिरफ्तार

उन्होंने कहा कि थापर को धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत मंगलवार रात गिरफ्तार किया गया था,

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय ने धनशोधन के एक मामले में अवंता समूह के प्रमोटर गौतम थापर को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी है उन्होंने कहा कि थापर को धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत मंगलवार रात गिरफ्तार किया गया था, जब एजेंसी ने उनके और उनके संबंधित व्यवसायों के खिलाफ दिल्ली और मुंबई में छापेमारी की थी। उन्होंने कहा कि उन्हें बुधवार को अदालत में पेश किए जाने की उम्मीद है जहां ईडी उनकी हिरासत की मांग करेगा।

ईडी उनकी कंपनी अवंता रियल्टी, यस बैंक के सह-संस्थापक राणा कपूर और उनकी पत्नी के बीच कथित लेन-देन की जांच कर रहा है, जिनकी एजेंसी पहले से ही पीएमएलए के तहत जांच कर रही है। ईडी ने केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) द्वारा दर्ज एक प्राथमिकी का संज्ञान लेते हुए मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था।

आपको बता दें कि CBI ने पिछले साल कपूर और उनकी पत्नी बिंदू के खिलाफ कथित तौर पर 307 करोड़ रुपये की रिश्वत लेने के लिए दिल्ली के एक इलाके में एक रियल्टी फर्म से बाजार मूल्य से आधे पर एक बंगला खरीदकर और बैंक को लगभग 1,900 करोड़ रुपये के बैंक ऋण की सुविधा के लिए मामला दर्ज किया था।

यह भी पढ़ें: दुष्कर्म के बाद हत्या मामले में पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे राहुल गांधी

Related Articles