Yes Bank मामले में ED ने अनिल अंबानी को किया सम्मन

नई दिल्ली: ED ने यस बैंक के प्रमोटर राणा कपूर और अन्य के खिलाफ अपनी जांच के सिलसिले में रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी को सम्मन भेजा है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) के अधिकारियों ने बताया कि अनिल अंबानी के समूह की कंपनियां उन बड़ी कंपनियों में शामिल थी, जिन्हें यस बैंक ने लोन दिया था। अधिकारियों के मुताबिक अंबानी को सोमवार को ईडी के कार्यालय में पहुंचने के लिए कहा गया था। अधिकारियों के मुताबिक 60 वर्षीय अंबानी ने कुछ व्यक्तिगत कारणों से ईडी के समक्ष पेश होने से छूट मांगी है और उन्हें इसके लिए नई तारीख दी जा सकती है। ऐसा बताया जा रहा है कि अनिल अंबानी समूह की कंपनियों ने बैंक से 12,800 करोड़ रुपये का लोन लिया था, जो एनपीए बन गया।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 6 मार्च को प्रेस कांफ्रेंस में कहा था कि अनिल अंबानी समूह, Essel, ILFS, DHFL और Vodafone ऐसी दबाव वाली कॉरपोरेट कंपनियां हैं, जिन्हें यस बैंक ने लोन दिया था। अधिकारियों ने कहा कि जिन कंपनियों ने यस बैंक से बड़ा लोन लिया था और वे लोन एनपीए बन गए थे, उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि धनशोधन रोकथाम अधिनियम (PMLA) से जुड़े प्रावधानों के तहत अंबानी का बयान रिकॉर्ड किया जाएगा।

Yes Bank के संस्थापक राणा कपूर (62) इस समय ED की हिरासत में हैं। इस महीने की शुरुआत में केंद्रीय जांच एजेंसी ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था।

Related Articles