उच्च शिक्षण संस्थानों में उपलब्ध होने वाली शिक्षा होंगी गुणवत्तापरक- सीएम योगी

लखनऊ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार राज्य में शिक्षा व्यवस्था को सदृढ़ बनाने की दिशा में कार्य कर रही है। सीएम योगी ने अपने सरकारी आवास पर उच्च शिक्षा विभाग के प्रस्तुतीकरण के दौरान कहा कि सरकार प्रदेश की सम्पूर्ण शिक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए प्रतिबद्ध है। अच्छे और कुशल मानव संसाधन सृजन में उच्च शिक्षा की महत्वपूर्ण भूमिका है। ऐसे में प्रदेश के उच्च शिक्षण संस्थानों में उपलब्ध करायी जा रही शिक्षा गुणवत्तापरक होनी चाहिए।

अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा मोनिका एस गर्ग ने बताया कि हरदोई में राजकीय कृषि महाविद्यालय का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। उन्होंने कृषि महाविद्यालय का कार्य विशिष्ट श्रेणी होने के मद्देनजर इसे कृषि विभाग को हस्तांतरित करने की संस्तुति की, जिस पर मुख्यमंत्री ने अपनी सहमति प्रदान की। उन्होंने नवनिर्मित राजकीय महाविद्यालयों के संचालन पर भी विचार करने का अनुरोध किया।

राज्य विश्वविद्यालय  अपने श्रोतों से नए पाठ्यक्रम व नए पद कर सकते सृजित

प्रस्तुतीकरण के दौरान सीएम योगी को राज्य विश्वविद्यालयों में शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने एवं एनएएसी एक्रीडिटेशन के लिए प्रयास करने के लिए इन विश्वविद्यालयों द्वारा अपने स्रोतों एवं संसाधनों से नये पाठ्यक्रम संचालित करने के सम्बन्ध में भी बताया गया। उन्होंने अनुरोध किया कि यदि कोई विश्वविद्यालय अपने स्वयं के वित्तीय स्रोतों से विश्वविद्यालय में पद सृजित करना चाहता है तो उसके लिए वित्त विभाग द्वारा सहमति प्रदान की जाए। उन्होंने नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी ऑफ़ इण्डिया द्वारा उत्तर प्रदेश की डिजिटल लाइब्रेरी के साथ पार्टनरशिप के लिये अनुरोध के सम्बन्ध में भी मुख्यमंत्री को बताया।

इसे भी पढ़े: नेपाल के सियासत की बागडोर अब चीन के हाथ, प्रचंड को पीएम बनाने भेज रहा उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल

योगी ने कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत शिक्षण संस्थाओं को औटोनॉमी के सम्बन्ध में जो प्राविधान किए गए हैं, उन्हें लागू किया जाए। उन्होंने विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया को सुदृढ़ करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि वैश्विक स्तर पर प्रचलित नये पाठ्यक्रमों को अपने यहां लागू करने के लिए विश्वविद्यालयों को अनुमति दी जाए।

बैठक के दौरान उप मुख्यमंत्री डाॅ दिनेश शर्मा, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Related Articles

Back to top button