UP चुनाव में घर बैठे डाल सकेंगे बुजुर्ग और दिव्यांग, आखिर क्या है इसका प्रोसेस, पढ़िए इस खबर में

पोलिंग स्टेशन के तहत बूथ लेवल ऑफिसर डिलीवर करेगा

अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में कुछ लोग अपने घर से भी वोट डाल पाएंगे. इसमें 80 साल से ज्यादा उम्र के लोगों, दिव्यांग जनों और कोरोना से प्रभावित लोग, जो वोट डालने के लिए पोलिंग बूथ तक नहीं पहुंच पा रहे हैं, उन्हें यह सुविधा मिलेगी. मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने कहा कि चुनाव आयोग वोट के लिए इन लोगों के घरों के दरवाजे तक पहुंचेगा.

पोस्टल बैलेट के जरिए वोटिंग

चुनाव आयोग की सलाह पर, भारत सरकार ने अक्टूबर 2019 में चुनाव संचालन के नियम, 1961 में संशोधन करके 80 साल और ज्यादा के वरिष्ठ नागरिकों को बैलेट वोटिंग सिस्टम के जरिए वोट डालने का अधिकार दिया था. पोस्टल बैलेट के जरिए जरूरी फॉर्म को 80 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों और दिव्यांगों के घरों पर डिलीवर किया जाएगा. यह फॉर्म अपने पोलिंग स्टेशन के तहत बूथ लेवल ऑफिसर डिलीवर करेगा.

आइए इसकी पूरी प्रक्रिया के बारे में जानते हैं.

1- सबसे पहली बात यह है कि आपको इस तरीके से वोट डालने के लिए फॉर्म 12 D भरना होगा. एक बार आप इस फॉर्म को पूरी तरह भर देते हैं, इसके बाद आप पोलिंग स्टेशन पर होने वाली सामान्य वोटिंग प्रक्रिया में भाग नहीं ले सकेंगे.
2- बूथ लेवल ऑफिसर आवेदकों के घर आएंगे और उसने यह जरूरी फॉर्म भरवाएंगे.
3- चुनाव की अधिसूचना जारी होने के पांच दिनों के अंदर आपको अफसर को इस फॉर्म को वापस करना होगा.
4- आपको पहले ही वे तारीख की सूचना मिल जाएगी, जब पोलिंग टीम आपके घर आने वाली है.
5- आपको बता दें कि टीम आपके घर वोट को लेने भी आएगी. वोटिंग को वीडियो पर भी रिकॉर्ड किया जाएगा.
6- पोस्टल वोटिंग की यह प्रक्रिया चुनाव में मतदान के तीन दिन पहले ही खत्म हो जाएगी.

Related Articles