IPL
IPL

Election Commission ने बीजेपी के दिग्गज नेता को दिया झटका, नहीं कर सकेंगे चुनाव प्रचार

असम: चुनाव आयोग ने बीजेपी नेता व असम सरकार में मंत्री हेमंत बिस्व सरमा पर बड़ा हंटर चलाया है। चुनाव आयोग (Election Commission) ने हेमंत बिस्व सरमा पर चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी है। इसके मुताबिक अब वो 48 घंटे तक चुनाव प्रचार नहीं कर सकेंगे। चुनाव आयोग (Election Commission) ने उनपर ये कार्रवाई बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के चीफ हंग्रामा मोहिलायारी को धमकाने के आरोप में लगाई है। हेमंत से चुनाव आयोग ने जवाब मांगा था।

रैली में दी थी धमकी

कांग्रेस ने सरमा की शिकायत चुनाव आयोग में की थी, उन्होंने आयोग से कहा था सरमा ने बीपीएफ चीफ को रैली में सार्वजनिक धमकी देते हुए कहा था कि NIA का इस्तेमाल कर जेल भेज देंगे। राज्य में चुनाव की घोषणा होने के कुछ ही दिन बाद असम में बीजेपी की सहयोगी पार्टी बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट एनडीए गठबंधन से अलग हो गई थी। पार्टी के अध्यक्ष हग्रामा मोहिलरी ने कहा, हम भाजपा के साथ दोस्ती और गठबंधन नहीं कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें : Mamata Banerjee की चोट की खुली पोल पट्टी, वीडियो में देखें पैर का खेल

जब तक हटेग प्रतिबंध तब तक…

शांति, एकता और विकास के साथ राज्य में मौजूदा सरकार देने के लिए बीपीएफ ने कांग्रेस की अगुवाई वाले गठबंधन के साथ जाने का फैसल किया है। हेमंत बिस्व सरमा ने दो हफ्ते पहले कहा था कि चुनाव में बीपीएफ एनडीए का हिस्सा नहीं होगी। असम में आखिरी चरण का चुनाव 6 अप्रैल को होगा। चुनाव आयोग का कदम सरमा के लिए झटका माना जा रहा है और 48 घंटे का प्रचार करने का जो प्रतिबंध लगा है, जब तक ये खत्म होगा तब तक चुनाव प्रचार का भी अंत हो जाएगा।

ये भी पढ़ें : Delhi में कोरोना की चौथी कहर, CM अरविंद केजरीवाल ने लॉकडाउन के लेकर दिया बड़ा बयान

Related Articles

Back to top button