सरकारी अधिकारियों पर की गई सिसौदिया के बयान से कर्मचारी संघ में रोष, कहा-निंदनीय टिप्पणी

0

नई दिल्ली| दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ आप विधायकों द्वारा की गई बदसलूकी के बाद केजरीवाल सरकार और सरकारी कर्मचारियों के बीच उत्पन्न विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। इसी क्रम में सरकारी कर्मचारी संघ ने सरकार के खिलाफ एक बार फिर रोष व्यक्त किया है। इस बार यह रोष उन्होंने दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की सरकारी अधिकारियों पर की गई टिप्पणी को लेकर व्यक्त किया है।

दरअसल कर्मचारी संघ ने सिसौदिया की टिप्पणी को ‘लैंगिक रूप से असंवेदनशील’ और ‘निंदनीय’ करार दिया। संवाददाताओं को संबोधित करते हुए दिल्ली सरकार कर्मचारी संयुक्त मंच के प्रतिनिधियों ने कहा कि नौकरशाहों और वर्तमान हालात से संबंधित सिसोदिया द्वारा मंगलवार को यहां एक राष्ट्रीय सम्मेलन में की गई टिप्पणी अत्यंत ही लैंगिक असंवेदनशील और निंदनीय है।

मुख्य सचिव पर आम आदमी विधायकों द्वारा कथित हमले के बाद पिछले सप्ताह के फैसले पर कर्मचारी संघ अडिग है कि कर्मी ना तो बैठकों में शामिल होंगे और न ही मंत्रियों के साथ फोन पर बात करेंगे।

मुख्य सचिव ने पिछले सप्ताह आरोप लगाया था कि 19 फरवरी को मुख्यमंत्री आवास पर अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में उनके साथ आप विधायक अमानतुल्ला खान और अन्य आप विधायक ने हाथापाई की थी। आवास पर उन्हें एक बैठक के लिए बुलाया गया था।

कर्मचारी संघ ने कहा था कि मंत्रियों और विधायकों से संपर्क तभी होगा जब कथित हमले के लिए केजरीवाल और सिसोदिया लिखित सार्वजनिक माफी नहीं मांग लेते।

संघ ने इस बात को माना कि सामाजिक कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम और परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने समस्या के समाधान के लिए प्रयास किए लेकिन वह लिखित में सार्वजनिक माफी की मांग पर कायम है।

loading...
शेयर करें