इंजीनियरिंग एंट्रेंस अब हुआ और आसान, 13 भाषाओं में होंगे सवाल

नई दिल्ली: इंजिनियरिंग एंट्रेंस का जेईई-मेंस अब साल में चार बार होगा। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बुधवार को यह ऐलान किया है। निशंक ने कहा कि ये परीक्षा चार चरणों मे होगी। पहले चरण का एग्जाम 23 से 26 फरवरी 2021 के बीच होगा। हर बार की तरफ इस बार भी नेशनल टेस्टिंग एग्जाम (NTA) करवाएगी।

बता दें कि पहली बार जेईई-मेंस एंट्रेंस का क्वेस्चन पेपर अंग्रजी समेत 13 भाषाओं में होगा। और वह भाषाएं हैं हिन्दी, कन्नड, मलयालम और पंजाबी। स्टूडेंटस जिस भाषा में पढ़ाई कर रहे हैं, उसी भाषा में उन्हें एग्जाम देना होगा। जिससे उनके लिए  राष्ट्रीय स्तर का यह एग्जाम देना आसान हो जाएगा।

निशंक ने वीडियो जारी कर किया ऐलान

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने एक वीडियो जारी कर इस बात की घोषणा की है। निशंक ने अपने वीडियो में कहा, “जेईई मेंस परीक्षा का आयोजन साल में चार बार होगा। यह परीक्षा चार सत्र में फरवरी, मार्च, अप्रैल और मई में आयोजित होगी”। उन्होंने बताया कि इसके तहत पहले सत्र में परीक्षा 23 फरवरी 2021 से 26 फरवरी 2021 तक होगी।

निशंक ने बताया कि एनटीए ने तय किया है कि अभ्यर्थियों को इनमें 75 प्रश्नों के उत्तर देने होंगे। जिसमें 15 वैकल्पिक प्रश्न होंगे। इसके अलावा रमेश पोखरियाल निशंक ने दावा किया है कि यह परीक्षा विश्व की सबसे बड़ी परीक्षा होगी। इसको अलावा अगर छात्रों को इससे जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी लेनी हो वह jeemains.nta.nic.in की आधिकरिक वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: STF को मिली बड़ी सफलता, जहरीली शराब के मामले में फरार चल रही इनामी अरेस्ट

Related Articles

Back to top button