इंग्लैंड के हरफनमौला खिलाड़ी बेन स्टोक्स के पिता का इस बीमारी से हुआ निधन

लंदन: इंग्लैंड क्रिकेट टीम के हरफनमौला खिलाड़ी बेन स्टोक्स के पिता जेड स्टोक्स का 65 साल की उम्र में निधन हो गया है। न्यूजीलैंड के पूर्व रग्बी खिलाड़ी जेड स्टोक्स इस साल की शुरुआत से ही कैंसर से पीड़ित चल रहे थे। उनके निधन की जानकारी उनके पूर्व रग्बी क्लब वर्किंगटन टाउन ने दी। इस क्लब के लिए वह 1982-83 में खेले थे और 2003 में वह इस क्लब के कोच भी रहे थे।

क्लब ने ट्वीट कर कहा कि बड़े दुख के साथ सूचित करना पड़ रहा है कि हमारे पूर्व खिलाड़ी और कोच गेड का निधन हो गया है। क्लब के इतिहास में गेड का नाम स्वर्णिम अक्षरों में लिखा गया है और उन्हें हमेशा याद किया जाएगा। वेस्ट कम्ब्रिया में अभी उनके बहुत सारे दोस्त हैं और हम उनके प्रति गहरी संवेदना प्रकट करते हैं।

राजस्थान की टीम जताया शोक

IPL में बेन स्टोक्स राजस्थान रॉयल्स की ओर से खेलते हैं। राजस्थान की टीम ने भी ट्विटर पर शोक संदेश जारी किया है। टीम ने लिखा, ‘‘गेड स्टोक्स को श्रद्धांजलि। आप हमारे क्रिकेट परिवार में सबसे विशेष हस्तियों में से एक थे। बेन स्टोक्स हम इस दुख के मौके पर आपके साथ हैं। भगवान आपको और आपके परिवार को यह दुख सहन करने की शक्ति दे।’’

गेड स्‍टोक्‍स को पहली बार पिछले वर्ष दक्षिण अफ्रीका के जोहानसबर्ग के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उस समय कहा गया कि वह ब्रेन सर्जरी से गुजर रहे हैं और इसकी सर्जरी की आवश्यक्ता है। न्यूजीलैंड वापस लौटने पर उनके कैंसर का पता लगा।

बेन स्टोक्स ने अगस्त में पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज से अपना नाम वापस ले लिया। वह पहले टेस्ट के बाद अपने पिता के साथ रहने के लिए वापस क्राइस्टचर्च लौट गए। बेन स्टोक्स ने उस वक्त कहा, ‘‘जब मैंने पिता के कैंसर की बात सुनी थी, उस समय मैं एक सप्ताह तक नींद नहीं ले पाया था। इसके बाद इस संकट की घड़ी में मैंने परिवार के साथ समय बिताने का निर्णय लिया और न्यूजीलैंड के लिए रवाना हो गया।’’

IPL के शुरुआती मैचों में नहीं खेले थे स्टोक्स

स्टोक्स यूएई में हुए आईपीएल 2020 के शुरुआती दो सप्ताह टीम का हिस्सा नहीं बन पाए थे। वह अक्टूबर में राजस्थान रॉयल्स टीम के साथ जुड़े और मुंबई इंडियन्स के खिलाफ शानदार शतक जमाया जिसे उन्होंने अपने पिता को समर्पित किया। बेन स्टोक्स ने आईपीएल के बाद दक्षिण अफ्रीका में तीन टी-20 मैच में हिस्सा लिया और उसके बाद स्वदेश वापस लौट गए।

बेन स्टोक्स ने हाल में एक इंटरव्यू में कहा था, ‘‘मेरे पिता जिम्मेदारियों को भली-भांति समझते थे। मैं जो काम कर रहा हूं वह मेरा कर्तव्य है और मुझे बतौर पति और पिता भी अपने कर्तव्यों का निर्वाह करना है।’’

यह भी पढ़ें: बिडेन ने कहा, सौ दिनों में 10 करोड़ डोज होंगे उपलब्ध

Related Articles