#WWC : अगर हरमनप्रीत के कहर से है बचना, तो भूल से भी स्पिन न फेंके इंग्लैंड

0

लन्दन। आईसीसी महिला वर्ल्डकप के सेमीफाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक तूफान देखने को मिला। भारतीय टीम के हरफनमौला खिलाड़ी हरमनप्रीत कौर ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैदान पर चौकों-छक्कों की सुनामी ला दी थी। हरमनप्रीत ने इस मैच में नाबाद 171 रन बनाए।

जिसकी बदौलत भारत ने यह मैच 36 रनों से जीतने में कामयाब रहा। अब भारतीय टीम रविवार को लॉर्ड्स में इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल मुकाबले में उतरेगी। हरमनप्रीत की इस पारी ने विरोधियों मके हलचल पैदा कर राखी है।

इंग्लैंड की पुरुष टीम के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन भी भयभीत नजर आ रहे हैं। उन्होंने महिला टीम को नसीहत दी है कि भूल से भी वह हरमनप्रीत के सामने स्पिंज गेंदबाजी का इस्तेमाल न करे।

हुसैन ने कहा कि मेरी कप्तान नाइट को एक ही सलाह है कि वह कौर के सामने स्पिन गेंदबाजों को न लगाएं क्योंकि उन्होंने गुरुवार को डर्बी में आस्ट्रेलिया के खिलाफ स्पिन गेंदबाजों की जमकर धुनाई की थी। उन्हें शांत रखें और इंग्लैंड मैच में पकड़ बना लेगी।

हुसैन ने कहा है कि रविवार को होने वाले मैच में इंग्लिश टीम को घर में खेलने का फायदा मिलेगा। हुसैन ने हालांकि अपनी टीम को भारत से आगाह किया है और कहा है कि भारत इकलौती ऐसी टीम है जिसने इंग्लैंड को लीग दौर में मात दी थी।

हुसैन ने कहा कि भारत की तीन बल्लेबाजों ने मेरा ध्यान खिंचा है। सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना, जिन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ पहले मैच में 90 रन बनाए थे। मिताली राज, जो हमेशा से ही अच्छी बल्लेबाज रही हैं और हरमनप्रीत, जिन्होंने आस्ट्रेलिया के खिलाफ सेमीफाइनल में 115 गेंदों में 171 रनों की पारी खेली थी।

भारत विश्व कप में दूसरी बार फाइनल में पहुंचने में सफल रहा है। इससे पहले भारतीय महिलाएं मिताली की कप्तानी में ही 2005 में फाइनल में पहुंची थी जहां आस्ट्रेलिया से हार गई थीं।

 

 

loading...
शेयर करें