यूरोपीय संघ के देशों ने ब्रिटेन से विमान सेवा पर लगाई रोक

कोविड-19 महामारी के प्रकोप को देखते हुए ब्रिटेन में चौथे स्तर के लॉकडाउन के समान प्रतिबंधों को लागू किया है।

लंदन : यूरोपीय संघ के देशों ब्रिटेन में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर रविवार को ब्रिटेन के साथ हवाई यातायात को निलंबित करना शुरू कर दिया है।

ब्रिटेन के लंदन सहित कई हिस्सों में कोविड-19 महामारी के प्रकोप को देखते हुए चौथे स्तर के लॉकडाउन के समान प्रतिबंधों को लागू किया है। एहतियाती उपायों के तहत क्रिसमस के लिए ब्रिटेन के नागिरकों के बाहर निकलने के मद्देनजर कई देशों ने इंग्लैंड के साथ अपनी सीमाओं को बंद कर दिया है।

लिथुआनिया में सरकारी आपातकालीन आयोग की तत्काल बैठक

लिथुआनिया ने एहतियाती उपायों को तय करने के लिए सरकारी आपातकालीन आयोग की तत्काल बैठक बुलाई। बैठक के बाद लिथुआनिया के गृह मंत्री एग्ने बिलोइटे ने कहा, “हमारे आयोग ने ब्रिटेन से लिथुआनिया के लिए सभी यात्री उड़ानों को निलंबित करने का फैसला किया। सरकार से इस फैसले की सिफारिश की जाएगी।” इस बीच परिवहन मंत्री मारियस स्कॉडिस ने स्पष्ट किया गया है अभी लिथुआनिया से ब्रिटेन प्रस्थान के लिए अनुमति है।
उन्होंने कहा कि सरकार से उम्मीद की जाती है कि वह शीघ्र ही इस मामले पर चर्चा के लिए आपातकालीन बैठक बुलाएगी।

इसे भी पढ़े:इज़राइल में कोरोना का वैक्‍सीनेशन शुरू, पीएम नेतन्‍याहू ने लगवाया पहला टीका

आयरलैंड की मीडिया रिपोर्टो में कहा गया है कि आयरलैंड शनिवार आधी रात से 48 घंटों के लिए इंग्लैंड के साथ समुद्र, वायु और सड़क मार्ग सीमा को बंद कर देगा। बुल्गेरियन नेशनल टेलीविज़न की रिपोर्ट के अनुसार बुल्गेरियाई कैबिनेट के निर्णय के अनुसार सोमवार से आधी रात से लेकर 31 जनवरी तक ब्रिटेन के साथ हवाई यातायात को निलंबित कर दिया जाएगा। इसके अलावा नीदरलैंड ने रविवार से एक जनवरी तक ब्रिटेन के उड़ानों पर प्रतिबंध लगाने वाला पहला देश है।

इजराइल ने कई देशों के साथ यात्रा को किया प्रतिबंधित

इजराइल ने इंग्लैंड के अलावा डेनमार्क और दक्षिण अफ्रीका से अनिश्चित काल के लिए सभी आगमन पर प्रतिबंध लगा दिया। जर्मनी स्वास्थ्य मंत्री जेन्स स्पैन ने सोमवार आधी रात से ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका से आने वाली उड़ानों को बंद कर देने की घोषणा की है। वहीं फ्रांस ने प्रधानमंत्री ने ब्रिटेन के साथ अगले 48घंटों के सभी तरह के आवागमन पर रोक लगाने और सीमाओं को बंद कर दिया है।

Related Articles

Back to top button