बकरीद से पहले ही सरकार ने पशु निर्यात पर लगाई अनिश्चितकालीन रोक!

0

नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार ने पशुधन निर्यात पर अनिश्चितकालीन रोक लगा दी है। जानवरों के हितों के लिए काम करने वाली संस्थाओं की मांग को देखते हुए सरकार ने यह निर्णय लिया है। केंद्रीय जहाजरानी मंत्रालय ने सभी बंदरगाहों से पशुधन निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है। सरकार का यह फैसला तब आया है जब कुछ ही दिनों बाद मुस्लिम पर्व ईद-उल-अजहा यानी बकरीद है।

पशु निर्यात पर केंद्र सरकार ने उठाया बड़ा कदम

दरअसल, बकरीद से पहले पशुओं की बड़ी खेप संयुक्त अरब अमीरात जाती है। यूएई में इस त्योहार के अवसर पर ऊंटों और सांड़ों के अलावा बड़े पैमाने पर बकरियों और भेड़ों की कुर्बानी दी जाती है। लेकिन सरकार ने इस बार पशुधन निर्यात पर अनिश्चितकालीन रोक लगाई है। केंद्रीय जहाजरानी मंत्रालय के राज्यमंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि हमको जानकारी मिली है कि डीटीपी के टूना पोर्ट (दीनदयाल पोर्ट ट्रस्ट) से भेड़ों और बकरियों का बड़ी संख्या में निर्यात कर दुबई भेजा जा रहा है। वहीं जानवरों के हितों की रक्षा करने वाली संस्था ने इस पर रोक की मांग की है। सरकार ने संस्थाओं की मांगो को उचित समझकर देश के सभी बंदरगाहों से पशुधन निर्यात रोकने का निर्णय लिया है।

22 अगस्त को मनाई जाएगी बकरीद

गौरतलब है कि इस बार बकरीद 22 अगस्त को मनाई जाएगी। त्यौहार के दौरान होने बंदरगाहों से होने वाले पशु निर्यात पर रोक लगा दी है। इससे पहले जीवा दया प्रेमियों और जानवरों के लिए काम करने वाली संस्थाओं ने पशु निर्यात के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। इनमें कहा गया था कि देश में तेजी से पशु निर्यात बढ़ रहा है। इसके साथ ही संस्थाओं ने नागपुर एयरपोर्ट से पशुओं की बड़ी संख्या में पशु निर्यात का भी कड़ा विरोध किया था।

संस्थाओं की मांग को देखते हुए लिया एक्शन

सरकार ने विरोध और मांग के मद्देनज़र सभी बंदरगाहों पर पशु निर्यात की रोक लगा दी है। उधर, नागपुर में सरकार की कार्रवाई देखते हुए गुजरात सरकार ने भी ऐसी मांग की है। दिलचस्प बात तो यह है कि मंत्रालय ने यह कदम ऐसे समय पर उठाया है, जब एनडीए सरकार के दौरान ही देश से पशुधन निर्यात में काफी तेजी आई थी। पशुधन निर्यात साल 2013-14 में 69.30 करोड़ रुपये से बढ़कर साल 2016-17 में 527.40 करोड़ रुपये तक पहुंच गया था। देश में अधिकतर भेड़ और बकरियों का निर्यात सबसे ज्यादा होता है।

loading...
शेयर करें