‘हर रोज मुझे 30-32 लड़कों की बुझानी पड़ती थी हवस, किसी के पास कंडोम तक नहीं होता था’

0

मैक्सिको। 12 साल की कार्ला जिसके अभी तक ढंग से दूध के दांत भी नहीं टूटे थे। खेलने कूदने की उम्र में उसे लड़कों की हवस को शांत करने के लिए मजबूर किया गया। 12 वर्षों से लगातार उसे एक सेक्स मशीन के सामान रौंदा गया।

कार्ला

24 वर्ष की हो चुकी मेक्सिकन गर्ल कार्ला ने एक चैनल पर अपनी आप बीती सुनाते हुए बताया कि अपनी बेकार सी फॅमिली के कारण मुझे सेक्स के दलालों के हाथों बेच दिया गया। उसके बाद 12 से 16 साल के बीच मेरे साथ 43 हज़ार बार रेप हुआ। कम से कम रोजाना मुझे 30 आदमी के साथ शारीरिक संबंध बनाने पड़ते थे। उसमे से कई लोगों के पास तो कंडोम भी नहीं होते थे। इस दौरान मैं कई बार प्रेगनेंट भी हुई और हर बार की तरह मेरा एबॉर्शन करा दिया जाता था।

मुझे ग्राहकों की सारी फरमाइश पूरी करनी पड़ती थी। कई लोगों की बहुत अजीब तरह की चाहता होती थी। जैसे कि अनाल सेक्स, ओरल सेक्स.. मुझे मजबूरी में न चाहते हुए भी वो सब करना पड़ता था। मना करने पर मुझे टार्चर किया जाता था। कई दिनों तक खाना नहीं दिया जाता था। मासिक धर्म के दौरान भी हवस के भड़िए मेरे शारीर को नोचते थे।

कार्ला को 2012 में एक एंटी-ट्रैफिकिंग ऑपरेशन में उसे प्रॉस्टिट्यूशन से निकाला गया। इसके बाद भी कार्ला कई सालों तक इस सदमे से उबर नहीं पायी और कई दिनों तक मानसिक बीमार भी रही। लेकिन अब कार्ला पूर्ण रूप से स्वस्थ हो चुकी है और ह्यूमन राइट्स एक्टिविस्ट बन गई हैं। अब कार्ला दुनियाभर में ट्रैफिकिंग की शिकार हुई महिलाओं और लड़कियों की मदद कर रही है।

loading...
शेयर करें