कांग्रेस के पूर्व विधायक को मुख़्तार से जान का खतरा, लगा रहा गुहार

वाराणसीः कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय राय (MLA Ajay Rai) को अब मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) का डर सताने लगा है। सियासत की ये बिसात कब किधर बैठ जाये कोई नहीं जानता, जी हां पीएम मोदी के खिलाफ वाराणसी संसदीय सीट से चुनाव लड़ने के दौरान इसी अजय राय ने मुख्तार अंसारी का समर्थन लिया था। तब इनके भाई के हत्यारे का पाप धूल गया था। अब दुश्मन से दोस्त बने मुख्तार फिर से अजय राय को डराने लगे हैं। ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि पूर्व विधायक अजय राय का खुद ही कहना है। कांग्रेस नेता का कहना है कि कोर्ट के आदेश के बाद भी उन्हें सुरक्षा नहीं दी जा रही है। जबकि मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) से अपनी जान को उन्होंने खतरा बताया है। अगर सरकार उन्हें सुरक्षा नहीं देती है, तो वे 9 फरवरी को एमपी-एमएलए कोर्ट जाकर इसकी शिकायत करेंगे।

सीएम योगी को लिखा पत्र

बता दें कि इससे पहले पूर्व कांग्रेस नेता के भाई की हत्या हो चुकी है। जिसका आरोप मुख्तार अंसारी के सहयोगियों पर ही लगा था। अजय राय ने कहा कि इस पूरे मामले को लेकर सीएम आदित्यनाथ को अवगत कराया गया है। गौरतलब है पीएम मोदी के खिलाफ कांग्रेस के प्रत्याशी रहे अजय राय ने योगी सरकार पर मुख्तार अंसारी को बचाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि सरकार के लोग उन्हें प्रताड़ित कर रहे हैं। मुख्तार अंसारी से उनके परिवार के लोगों को जान का खतरा है। लेकिन इसके बावजूद उनके शस्त्र लाइसेंस को रद्द नहीं किया जा रहा है।

सरकार Mukhtar Ansari को नहीं लाना चाहती यूपी

उन्होंने कहा कि जो लोग आरोप लगाते हैं कि पंजाब की कांग्रेस सरकार मुख्तार का सहयोग कर रही है, तो ये गलत है। सरकार खुद मुख्तार अंसारी को यूपी नहीं लाना चाहती है। यही वजह है कि मुझे सीएम को पत्र लिखकर पूरा मामला बताना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें: संकट की इस घड़ी में उत्तराखंड के साथ खड़ी है यूपी सरकार: सीएम योगी

Related Articles

Back to top button