जिसकी वजह से गई मुन्ना बजरंगी की जान, उसे मायावती ने पार्टी से किया बाहर

लखनऊ। हाल ही में जेल में मारे गए माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी पर रंगदारी का आरोप लगाने वाले विधायक लोकेश दीक्षित को बहुजन समाज पार्टी ने (बसपा) ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप लगाते हुए उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया। मेरठ-सहारनपुर मंडल के इंचार्ज बीएसपी नेता सत्यपाल पेपला के मुताबिक लोकेश का निष्कासन बसपा सुप्रीमो मायावती के आदेश के बाद किया गया है।

मुन्ना बजरंगी

गौरतलब है कि लोकेश दीक्षित से रंगदारी मांगने के आरोप में 9 जुलाई को बागपत कोर्ट में मुन्ना बजरंगी की पेशी होनी थी। उसके एक दिन पहले उसे बागपत जेल में लाया गया था। पेशी वाले दिन उसी बैरक में बंद सुनील राठी नाम के एक माफिया डॉन ने उसे गोली मार दी।

दरअसल, करीब 10 महीने पहले लोकेश दीक्षित ने मुन्ना बजरंगी पर रंगदारी मांगने का आरोप लगाया था। इस मामले में बड़ौत थाने में सितंबर 2017 में मुकदमा दर्ज हुआ था। पुलिस ने सर्विलांस के आधार पर लखनऊ से सुल्तान नाम के व्यक्ति की गिरफ्तारी की थी।

दीक्षित बागपत के बड़ौत विधानसभा से लोकेश दीक्षित विधायक रह चुके हैं। उन्होंने पिछले साल सितंबर में पुलिस में शिकायत दर्ज करायी थी कि फोन पर उनसे रंगदारी मांगी जा आरही है। फोन पर झांसी जेल मे बंद कुख्यात बदमाश मुन्ना बजरंगी के नाम से बदमाशों ने उनसे रंगदारी की डिमांड की है। बदमाशों ने विधायक को धमकी दते हुए कहा था कि पहले मुन्ना बजरंगी को सेट करो फिर टेंडर का काम करो।

Related Articles