विधानसभा में खतरनाक विस्‍फोटक मिलने के बाद मचा हडकंप, सीएम योगी ने बताया बड़ी आतंकी साजिश

0

लखनऊ। सुरक्षा एजेंसियों ने यूपी में एक बड़ी आतंकी साजिश को नाकाम किया है। दरअसल बुधवार को यूपी विधानसभा में समाजवादी पार्टी के एक विधायक की सीट से मिला सफ़ेद पाउडर मिला था। जांच में खुलासा हुआ है कि वो पाउडर खतरनाक विस्फोटक था जिसका इस्तेमाल आतंकवादी करते हैं। इसके बाद से हडकंप मचा हुआ है। सीएम योगी ने विधानसभा सदन को इस बारे में जानकारी दी है।

विधानसभा

विधानसभा में मिले विस्फोटक के बाद सीएम योगी ने बुलाई बैठक

सीएम योगी ने सदम को बताया कि ये बड़ी आतंकी साजिश है। इसकी एनआईए से जांच करानी चाहिए। फॉरेंसिक लैब की रिपोर्ट में कहा गया है कि विधानसभा से मिला सफ़ेद पाउडर प्लास्टिक पीईटीएन है। इस रिपोर्ट के आने के बाद सुरक्षा का जायजा लेने और चर्चा करने के लिए बैठक बुलाई थी।

इस बैठक में डीजीपी, एडीजी लॉ एंड आर्डर, प्रमुख सचिव गृह और फॉरेंसिक लैब के डायरेक्टर शामिल हुई। विधानसभा में पाया गया विस्फोटक पीईटीएन है। एक्सपर्ट का कहना है कि डेटोनेटर होने के बाद ही ये विस्फोटक बम का रूप ले लेता है। इस खुलासे के बाद सुबह साढ़े दस बजे सीएम आदित्यनाथ योगी ने सुरक्षा को लेकर बैठक बुलाई है। इतनी सुरक्षा के बाद विधानसभा में विस्फोटक मिलना कई सवाल खड़े करता है।

क्या है PETN 

आपको बता दें कि अभी यूपी विधानसभा में बजट सत्र चल रहा है। संदिग्ध पाउडर अपोजिशन लीडर रामगोव‍िंद चौधरी की सीट के पास म‍िला। बताया जा रहा है कि दुनिया के सबसे खतरनाक विस्फोटकों में से एक PETN विस्फोटक काफी जानलेवा होता है। दुनिया के खतरनाक आतंकी संगठन इसका इस्तेमाल करते हैं। इसकी मुट्ठीभर मात्रा एक बिल्डिंग को धराशायी करने के लिए काफी होता है। ये विस्फोटक रंगहीन, गंधहीन होता है। इसे मेटल डिटेक्टर भी नहीं पकड़ सकता लेकिन डॉग स्कवॉयड ने इसे ढूंढ निकाला।

नेताओं ने दी जानकारी 

फिलहाल अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि यह विस्फोटक विधानसभा में पहुंचा कैसे। इस मामले में संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि अभी तक उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। वहीं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि यह बहुत ही गंभीर विषय है। मामले की जाँच की जा रही है। मामले की जांच चल रही है।

जबकि समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कानून व्यवस्था पर उंगली उठाई है। उनका कहना है कि यह बहुत ही गंभीर विषय है। सरकार इस मामले में जनता को बताना चाहिए की यह चूक हुई कैसे। इस सरकार में कानून व्यवस्था एकदम चौपट हो गई है।

 

loading...