नकली रेमडेसिविर बनाने वाले गिरोह का हुआ पर्दाफाश, कोरोड़ों रुपए के साथ गिरफ्तार

नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश कर छह लोगों को गिरफ्तार किया है।

चंडीगढ़: पंजाब पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पंजाब पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो आम लोगों से लेकर मेडिकल एजेंसी तक सभी के आंखों में धूल झोंककर करोड़ों रुपए की कमाई कर रहें थे। नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश कर छह लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार लोगों की पहचान उत्तर प्रदेश के मोहम्मद शाहवार, अरशद खान, मोहम्मद अरशद, हरियाणा के प्रदीप सरोहा, पंजाब के मोहाली के शाह नजर और शाह आलम के रूप में हुई है।

बता दें कि पंजाब के पुलिस महानिदेशक ( डीजीपी ) दिनकर गुप्ता ने कहा कि रूपनगर पुलिस ने शीशियों को बनाने के लिए इस्तेमाल डिजाइन और पैकेजिंग सामग्री, दो करोड़ रुपये की नकदी और उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब और चंडीगढ़ के पंजीकरण नंबर वाली चार कारें जब्त की हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि रेमडेसिविर इंजेक्शन का उपयोग कोरोना से संक्रमित लोगों का इलाज के लिए किया जाता है। इस इंजेक्शन का इजात होने से लेकर अभी तक डिमांड बड़ी हुई है। कोरोना संक्रमण से जान बचाने कि लिए लोग रेमडेसिविर इंजेक्शन की मुह मांगी कीमत दे रहें थे औऱ इस इंजेक्शन की कीमत लगभग एक लाख रुपए तक की कालाबाजारी की जा रही थी। बढ़ते डिमांड को देखते हुए एक गिरोह भी तैयार हुआ और नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन तैयार कर के बाजार में 1-1 लाख रु में बेचने लगा। हालंकि पुलिस इस गिरोह को गिरफ्तार कर के बरामद समान जब्त कर ली है और जानकारी हासिल करने की कोशिश कर रही है।

यह भी पढ़ें: फ्लाइंग सिख Milkha Singh कह गए अलविदा साथियों, अंतिम इच्छा होगी पूरी

Related Articles