हत्यारोपियों की धमकियों से परेशान परिवार, SSP से लगाई गुहार

त्तर प्रदेश में झांसी के बरूआसागर थानाक्षेत्र में विगत दिनों हुई मोंटू यादव हत्यारोपियों के आजाद घूमने और पीड़ित परिवार को डराने धमकाने से घबराये परिजन न्याय की गुहार लेकर सोमवार को वरिष्ठ पुलिस अधिकारी (एसएसपी) कार्यालय पहुंचे।

झांसी: उत्तर प्रदेश में झांसी के बरूआसागर थानाक्षेत्र में विगत दिनों हुई मोंटू यादव हत्यारोपियों के आजाद घूमने और पीड़ित परिवार को डराने धमकाने से घबराये परिजन न्याय की गुहार लेकर सोमवार को वरिष्ठ पुलिस अधिकारी (एसएसपी) कार्यालय पहुंचे।

मोंटू यादव के परिजनों ने हत्यारोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर गहरा दुख  जताते हुए सुबह शहर के प्रमुख इलाइट चौराहे पर प्रदर्शन किया और फिर कार्यालय पहुंच कर एसएसपी दिनेश कुमार पी को ज्ञापन सौंपा। मृतक की पत्नी मेघा यादव ने कहा कि सात लोगों ने उसके पति की सरेआम फावड़ा और पत्थर के टुकड़े पर पटक कर उसके पति मोंटू की हत्या कर दी।

मुख्य आरोपियों के नाम

आरोपियों संजय उर्फ बबलू यादव, राहुल यादव, अमित उर्फ लल्ला, सुमित ,सौरभ ,गौरव निवासी कोट बेटा थाना सीपरी बाजार के साथ प्रदीप निवासी गांव बाबई थाना निवाडी मध्य प्रदेश के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इनमें से तीन संजय, अमित और गौरव की ही गिरफ्तारी अभी तक हो पाई है जबकि अन्य आजाद घूम रहे हैं और परिवार के अन्य लोगों को धमका रहे हैं जिसके चलते परिवार का घर से बाहर निकलना भी दूर्लभ हो गया है।

जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग

मृतक की मां रामकुमारी ने कहा कि उसके छोटे बेटे की हत्या सरेआम कर दी गई और हत्यारे आज भी बेपरवाह घूम रहे हैं। ऐसे में परिवार के अन्य लोगों के जीवन पर संकट मंडरा रहा है इसलिए एसएसपी को सौंपे ज्ञापन में आरापियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी और परिजनों की सुरक्षा की मांग की गई है।

मृतक की पत्नी ने कहा कि यदि जल्द से जल्द आरोपी गिरफ्तार नहीं हुए तो वे एसएसपी कार्यालय में अनशन शुरू कर देंगे। मृतक के मामा के बेटे शिवम यादव ने बताया कि एसएसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए 72 घंटे का समय मांगा है और इस दौरान परिवार की सुरक्षा का आश्वासन भी दिया है।

गौरतलब है कि छह दिसम्बर को आरोपियों ने फावड़ा और पत्थर के टुकड़े मारकर मोंटू यादव की हत्या उसी के घर के बाहर ही कर दी थी। उस समय घर में मौजूद मोंटू यादव की पत्नी और मां के साथ अन्य सदस्य बाहर नहीं आ पाए इसके लिए उन्होंने घर का मेन गेट बाहर से बंद कर दिया था। घटनास्थल एक निर्माणाधीन आवासीय कालोनी होने के कारण आरोपी हत्या को अंजाम देकर आसानी से फरार हो गये थे।

यह भी पढ़े: अगर आप वैक्सीन लगवाने जा रहे हैं तो इन चीजों का रखें खास ध्यान

Related Articles

Back to top button