किसान आंदोलन: कृषि कानून को लेकर मायावती का तीखा बयान

नई दिल्ली: कृषि कानून को लेकर लगातार किसान आंदोलन कर रहे हैं। कई विपक्षी पार्टियां कृषि कानून को लेकर सरकार पर लगातार निशाना साध रही हैं। ऐसे में बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग करते हुए कहा कि किसानों के साथ सहानुभूतिपूर्ण रवैया अपनाया जाना चाहिए।

मायावती का सरकार पर हमला

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार को हठधर्मिता छोड़ देनी चाहिए और किसानों की मांग स्वीकार कर लेनी चाहिए। बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा, “केन्द्र की सरकार को हाल ही में देश में लागू तीन नए कृषि कानूनों को लेकर आन्दोलित किसानों के साथ हठधर्मी वाला नहीं बल्कि सहानुभूतिपूर्ण रवैया अपनाकर उनकी माँगों को स्वीकार करके उक्त तीनों कानूनों को तत्काल वापस ले लेना चाहिए, बीएसपी की यह माँग है।”

कृषि कानून को लेकर सरकार को घेर रहा विपक्ष

किसान बिल में सुधार को लेकर एक तरफ जहां किसान आंदोलन पर बैठे हुए हैं। तो वहीं दूसरी तरफ सरकार बिल में सुधार ना करने को लेकर अड़ी हुई है। ऐसे में किसानों का साथ देने के लिए विपक्षी पार्टियां भी कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं। लगातार विपक्ष सरकार पर हमला बोल रहा है। और किसानों के समर्थन में जगह जगह धरना प्रदर्शन कर रहा है।

यह भी पढ़ें: अमेरिकी शेयर बाजार में चीनी कंपनियों की राह होगी मुश्किल

Related Articles