Farmer Strike: ‘उपराज्यपाल से मिलने नहीं दिया तो हम दिल्ली कूच करेंगे’

किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि अगर हमारे लोगों को उपराज्यपाल से मिलने नहीं दिया गया तो हम दिल्ली कूच करेंगे

नई दिल्ली: सरकार के द्वारा लाए गए नए कृषि कानून के विरोध में किसान आंदोलन (Kisan Aandolan) को आज 7 महीने पूरे हो गए है। जिसको लेकर अलग-अलग राज्यों में किसान राज्यपाल और उपराज्यपाल को ज्ञापन सौपेने में जुटे हैं।

गाजीपुर बॉर्डर से भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा कि अगर हमारे लोगों को उपराज्यपाल से मिलने नहीं दिया गया तो हम दिल्ली कूच करेंगे। हम कैसे जाएंगे इस पर हम अभी बैठक कर रहे हैं। हम उपराज्यपाल के पास जाएंगे। टिकैत ने बोला कि हमारे दिल्ली प्रदेश उत्तराखंड के किसानों की मुलाकात गवर्नर साहब से नहीं कराई गई है। किसानों को रोका गया है दिल्ली उपराज्यपाल से अगर किसानों की मुलाकात नहीं हुई तो गाजीपुर बॉर्डर से भी किसान दिल्ली की तरफ कूच करेंगे।

राकेश टिकैत ने बयान देते हुए बोला कि किसान आंदोलन को आज 7 महीने पूरे हो गए हैं, दो दिन से दिल्ली में काफी लोग आ रहे हैं। सरकार जब चाहे तब बातचीत शुरू कर सकती है, हमारा आंदोलन जारी रहेगा। महीने में दो बार लोग यहां बड़ी संख्या में ट्रैक्टर के साथ आएंगे। इस बार सहारनपुर और मुजफ्फरनगर से ट्रैक्टर आए हैं।

कृषि मंत्री का बयान

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बयान देते हुए बोला कि मैं सभी किसान यूनियन के लोगों को कहना चाहता हूं कि उनको अपना आंदोलन समाप्त करना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत सरकार कानून के किसी भी प्रावधान पर बात करने के लिए भी तैयार है और उसका निराकरण करने के लिए भी तैयार है।

लखनऊ में विरोध-प्रदर्शन

उत्तर प्रदेश में किसान आंदोलन के 7 महीने पूरे होने पर किसानों ने लखनऊ में विरोध-प्रदर्शन किया। किसान नेता राजेश सिंह चौहान ने बताया कि 1 साल से देश में अघोषित आपातकाल लगा है इसके विरोध में हम आज राज्यपाल के जरिए राष्ट्रपति जी को ज्ञापन सौंपेंगे क्योंकि किसानों का गेहूं मंडियों में सड़ रहा है।

यह भी पढ़ेAnti-Narcotics Cell की खास पहल, स्कूल के Online Class के माध्यम से जागरुकता लाने की कोशिश

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles