26 जनवरी को किसान कर सकते है ट्रैक्टर परेड, नियमों का करना होगा पालन

नई दिल्ली: 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के मौके पर होने वाली ट्रैक्टर रैली पर लगने वाली रोक पर हो रही चर्चा के बीच खबर आ रही है कि दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर परेड (Tractor parade) की मंजूरी दे दी है। दिल्ली पुलिस ने बताया कि किसान संगठनों से कई मुद्दों पर चर्चा होने के बाद यह अनुमति दी गई है, साथ ही इसके कई नियम कानून बनाए गए है और हर हाल में शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। दिल्ली पुलिस ने इसका नियम भी बताया है कि राजपथ पर परेड खत्म होने के 12 बजे के बाद किसान टैक्टर परेड (Tractor parade) निकाल सकते है।

इसके आगे दिल्ली पुलिस ने बताया है कि ट्रेक्टर मार्च निकालने वाले सभी किसानों को सूर्यास्त होने से पहले वापस अपने-अपने बॉर्डर इलाके में पहुंचना होगा। परेड के लिए तीन प्रमुख मार्ग का चयन किया गया है, सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर के रास्ते के मार्फत दिल्ली के अंदर करीब 100 किलोमीटर का रास्ता मार्च के दौरान तय कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें : ब्लॉक प्रमुख के 826 पदों पर बीजेपी की नजर, जानिए क्या है प्लान

इसके अलावा पुलिस ने जानकारी दी है कि चिल्ला बॉर्डर पर जो किसान बैठे हैं उन्हें गाजीपुर बॉर्डर पर जाना होगा और वहीं से टैक्टर मार्च करने वाले मार्ग पर आना होगा। रैली के दौरान राष्ट्रीय ध्वज और किसान संगठनों के झंडे ट्रैक्टर पर लगाए जाएंगे। कौन सा नारा लगाना है और कौन सा नहीं इसके बारे कल तक फ़ाइनल रूपरेखा तैयार होगी।

ये भी पढ़ें : सब्जी विक्रेता ने नहीं दी फ्री में सब्जी, तो बंदगो ने उसके साथ किया सबसे बुरा सलूक

नए ट्विटर हैंडल खंगाल रही पुलिस

26 जनवरी को होने वाले ट्रैक्टर परेड को लेकर दिल्ली पुलिस काफी सख्त है और इनकी इंटेलिजेंस यूनिट करीब 308 नए ट्विटर हैंडल खंगाल रही हैं, जो पिछले महीने ही पाकिस्तान में आईपी से हुए एक्टिव हैं। जो ट्विटर आईडी से एक्टिव हुए हैं वे किसानों के मसले पर ही अफवाह फैलाने में जुटे हैं। पुलिस ने दावा करते हुए बताया है कि दिल्ली-एनसीआर में पिछले दो महीने से चल रहे किसानों के आंदोलन को दिशाहीन करने के लिए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) और वहां के आतंकी संगठनों द्वारा एक डर्टी गेम यानी गंदा खेल शुरू किया गया है।

 

Related Articles

Back to top button