किसानों को बजट नहीं आया पसंद, सरकार ने किसानों को कुछ नहीं दिया: राकेश टिकैत

नई दिल्ली: देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को बजट 2021 पेश किया। सीतारमण ने कहा, ‘सरकार का जोर आत्मनिर्भर भारत की ओर है, 2014 से लगातार एमएसपी बढ़ी है और सरकार (Government) कानूनों में बदलाव के लिए तैयार है। केंद्र सरकार (Central government) ने भले ही कृषि सेक्टर के लिए कई अहम ऐलान किया हों लेकिन दिल्ली की सीमा पर आंदोलन कर रहे किसानों को यह बजट पसंद नहीं आया है। गाजीपुर बार्डर पर धरना दे रहे किसान नेता राकेश टिकैत ने यहां तक कह दिया कि बजट में किसानों को कुछ नहीं दिया गया है। उल्टे पेट्रो पदार्थो पर कृषि के नाम पर सेस लगा दिया गया है।

टिकैत ने कहा कि बजट से किसान को कुछ नहीं मिला। किसानों की पुरानी मांग न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर भी कानून नहीं बनाया गया। सरकार को स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश लागू करनी चाहिए। दिल्ली की हदबंदी कर सभी को परेशान किया जा रहा है। टिकैत ने कहा कि किसानों को कुछ मिला तो कर्जा मिला है। सरकार के सामने जमीन का कागज गिरवी रख दो और कर्जा ले लो। आपकी जमीन छिनने का सरकार का यह बहुत बड़ा षड्यंत्र है।

ये भी पढ़ें : Bigg Boss 14: राखी सावंत का Love लपाटा, रुबिना दिलैक बनी दुश्मन

उन्होंने कहा आपको अगर फसल का भाव मिल जाता है तो गुजारा चल जाता लेकिन सरकार आपको कर्ज से गुजारा चलाने को बोल रही है। क्या कर्ज लेकर गुजारा चल सकता है। कहा कि इन लोगों ने कर्जा देकर जमीन छीनने का अभियान चला रखा है। बड़े बड़े घरानों ने सरकार से कह दिया है कि इन्हें कर्जा दे दो फिर हम जमीन आसानी से ले लेंगे।

ये भी पढ़ें : BIRTHDAY: बस स्टैंड पर खड़े-खड़े बदली जग्गू दादा की Life, रातों-रात बनें स्टार

Related Articles

Back to top button