मंडियों में किसानों को हर सुबह कृषि उत्पादों के अधिकतम मूल्य की मिलेगी जानकारी

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को अनौपचारिक बातचीत में बताया कि किसानों को अधिकतम आए मिल सके

नई दिल्ली: कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को अनौपचारिक बातचीत में बताया कि किसानों को अधिकतम आए मिल सके इसके लिए उन्हें हर सुबह कृषि उत्पादों के अधिकतम मूल्य की जानकारी दी जाएगी। सर्वश्री तोमर एवं गोयल ने बताया कि इसके लिए आधुनिक प्रौद्योगिकी का सहारा लिया जा रहा है और दूरसंचार की नवीनतम तकनीक का उपयोग किया जा रहा है।

सरकार के पास करीब 10 करोड़ किसानों के मोबाइल फोन नंबर और अन्य आंकड़ों की जानकारी है। आधुनिक प्रौद्योगिकी का उपयोग पर किसानों को मोबाइल फोन पर ही फसलों की अधिकतम कीमत की जानकारी मिल सकती है। तोमर ने बताया कि इस व्यवस्था को तेजी से कार्यान्वित करने का प्रयास किया जा रहा है और अगले कुछ माह में इस व्यवस्था से किसानों को फसलों को लेकर नवीनतम जानकारी दी जा सकेगी।

ये भी पढ़े : करतारपुर मामले पर विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान उच्चायोग के प्रभारी को किया तलब

तोमर और गोयल ने बताया कि नए कृषि सुधार कानूनों को लागू किए जाने के बाद किसान अब देश के किसी हिस्से में अपने मनमानी कीमत पर फसल को बेच सकेंगे। उन्होंने बताया कि पिछले 6 वर्षों के दौरान न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं और धान की खरीद में काफी वृद्धि हुई है जबकि दुल्हनों की खरीद में 74 गुना और तिलहन ओ की खरीद में लगभग 10 गुना की वृद्धि हुई है।

ये भी पढ़े : पांच स्पेशल ट्रेनों का परिचालन रद्द, दो के मार्ग में परिवर्तन

उन्होंने बताया कि न्यूनतम समर्थन मूल्य पर अभी तक 236 लाख टन खरीफ धान की खरीद की गई है जो पिछले वर्ष से 21 प्रतिशत से अधिक है इस वर्ष लगभग 499 लाख टन धान की खरीद का लक्ष्य है जबकि पिछले वर्ष लगभग 420 लक लाख टन खरीद का लक्ष्य था।

Related Articles

Back to top button