किसान का विरोध होगा विफल, Budget 2021 पेश होने से पहले किए कड़े इंतजाम

नई दिल्ली: केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानून से नाराज किसानों का दिल्ली (Delhi) में लगातार विरोध प्रदर्शन जारी है। वहीं केंद्र सरकार कल यानि सोमवार 1 फरवरी को बजट (Budget 2021-22) पेश करने वाली है। बजट (Budget) पेश होने से पहले रविवार को ही दिल्ली (Delhi) की सीमाओं पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम कर दिए गए हैं। जगह जगह पर सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया है साथ ही बैरिकेडिंग के साथ कांटो वाले तार लगा दिए गए है, क्योंकि किसानों ने 1 फरवरी को संसद मार्च का आह्वान किया था।

जानकारी के मुताबिक, किसानों ने आह्वान किया था कि 1 फरवरी को संसद मार्च करेंगे और इसी दिन बजट (Budget 2021-22) पेश होना है इसलिए सरकार एहतियात के तौर पर कदम उठाते हुए सड़कों पर कंक्रीट स्लैब और बैरिकेडिंग तैनात कर दिये हैं साथ ही सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया है। यहां पर ट्रैक्टर या अन्य गाड़ियां पार न कर सकें इसे लेकर भी विशेष इंतजाम किए गए हैं। 26 जनवरी के दिन ट्रैक्टर परेड में हुए बवाल के बाद किसानों से इस मार्च को रद्द कर दिया था।

ये भी पढ़ें : राखी सावंत की मां ICU में भर्ती, ट्यूमर बना कैंसर

26 जनवरी को हुए बवाल के बाद कड़े इंतजाम

26 जनवरी के दिन हुए बवाल के बाद ऐसे कड़े इंतजाम किए है कि एक बार फिर 1 फरवरी को ऐसे घटना न हो सके। हालांकि आयोजकों ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा बजट पेश करने के दौरान संसद घेराव की योजना को रद्द कर दिया है। राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार हम किसानों पर इस आंदोलन को खत्म करने का दबाव बना रही है, लेकिन हम इनके दबाव में नहीं आएंगे।

ये भी पढ़ें : Kisan Andolan: Governor सत्यपाल मलिक ने कही ये बड़ी बात

इसके अलावा उन्होंने कहा कि हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान का स्वागत करते हैं जिसमें उन्होंने कहा कि सरकार आपसे बातचीत करने के लिए तैयार है। इसके अलावा टिकैत ने सरकार से शर्त रखी है कि हम वार्ता तभी करेंगे जब हमारे गिरफ्तार किसानों को रिहा किया जायेगा। हम अपने आत्मसम्मान को बचाने के लिए भी प्रतिबद्ध हैं।

Related Articles

Back to top button