किसानों ने क्रांति का फूंका बिगुल, 10 दिनों के लिए गांव बंद का ऐलान..

0

नई दिल्ली। खबर पंजाब के चंडीगढ़ की है जहां किसानों ने क्रांति का आगाज़ कर दिया है। किसानों ने क्रांति का बिगुल फूंकते हुए 1 से 10 जून तक गांव को बंद करने का ऐलान कर दिया है। उन्होंने कहा है कि गांव बंद के साथ साथ कोई भी सामान जैसे फल, सब्जी दूध कुछ भी गांव से बाहर शहर में नहीं जाएगा। गांव के किसानों ने मिलकत इस गांव बंद का ऐलान किया है। कहा जा रहा है आने वाले समय में यह एक बड़ा आंदोलन बन सकता है।

मामले की जानकारी देते हुए कहा जा रहा है किसानों ने बहुत मशक्कत के बाद ये फैसला लिया है। जिसमें किसान नेताओं का कहना है कि किसानों की आमदनी और बेहतर करवाने के लिए उन्होंने कई बार स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने के लिए कहा था। आरोप लगाते हुए किसानों का कहना है कि उनकी इस मांग की सुनवाई नहीं की जा रही है। जिसके बाद उन्होंने आंदोलन जैसा कदम उठाया है।

इस आंदोलन का ऐलान एग्रीकल्चरल एक्टिविस्ट देवेंद्र शर्मा ने एक प्रेस कांफ्रेंस में किया है। इस कार्यक्रम में पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और उत्तर प्रदेश के कई किसान नेता और कई किसान संगठन शरीक हुए। साथ ही आंदोलन की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि जिन तारीखों का ऐलान किया गया उन तारिखों को गांव बंद किया जाएगा। किसी भी तरह से कोई सप्लाई नहीं की जाएगी। मामले को गंभीरता से लेते हुए कहा जा रहा है कि अगर ऐसा कोई आंदोलन हुए तो  इससे बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, जो कि सही नहीं है।

loading...
शेयर करें